चूहे खा गए कार के पुर्जे, एक लाख का नुकसान

 मंगलवार, 29 जनवरी, 2013 को 08:20 IST तक के समाचार

जिल की कार को चूहों ने काफी नुकसान पहुँचाया

चूहों ने कपड़े कुतर दिए या खाने-पीने के सामान को नुकसान पहुँचा दिया- ये बात आपने कई बार सुनी होगी. लेकिन इंग्लैंड में एक चूहे ने तो कार को ही तार-तार कर दिया.

सफल्क इलाके में रहने वाली 74 साल की जिल जब छुट्टियों से लौटीं तो उन्होंने देखा कि चूहों ने उनकी कार के कई पुर्जे खा लिए हैं. उन्हें करीब एक लाख का नुकसान हुआ.

जिल ने बताया कि कार के अंदर के इलेक्ट्रिक पुर्जे गायब हो चुके हैं और चूहों ने पेडलों से रबर तक कुतर दी है.

उनकी बीमा कंपनी के प्रवक्ता ने बताया कि लगता है कि चूहे कार में घुस गए और वायरिंग सिस्टम और सीटबेल्ट को नुकसान पहुँचाया.

जिल क्रिसमस की छुट्टियों में अपने रिश्तेदारों के घर गई थीं और अपनी कार घर पर ही छोड़ गई थी.

वे बताती हैं, ''वापस लौटने के एक दिन बाद मैं कार का दरवाज़ा खोलने की कोशिश कर रही थी. लेकिन सेंट्रल लॉकिंग काम नहीं कर रहा था. तब मैने देखा कि पेडल पर लगी रबड़ कुतरी हुई थी. हर तरफ चूहों का मल था. मैं इसे पहचान सकती हूँ.''

जिल की फोर्ड फ्यूज़न कार को गराज भेजना पड़ा और इसे ठीक होने में तीन हफ्ते लगे क्योंकि हर बार उन्हें कोई नया नष्ट हुआ हिस्सा मिल जाता था.

चूहे भगाने के लिए जला हुआ टोस्ट

इस इलाक़े में 70 साल से पेस्ट कंट्रोलर का काम करने वाले रॉबिन वाइले कहते हैं कि उन्होंने ऐसी समस्या पहले नहीं देखी.

लेकिन जिल डेलाने इस बात पर अड़ी हुई हैं कि नुकसान चूहों ने ही पहुँचाया है.

वैसे तो जिल के मकान मालिक चूहों से निपटने के तरीके ढूँढ रहा है और घर के पास पड़े मलबे को भी हटाया जा रहा है लेकिन जिल को डर है कि चूहे फिर नुकसान पहुँचा सकते हैं.

वे कहती हैं, ''अगर मुझे फिर बीमा कंपनी के पास जाना पड़ा तो मुश्किल हो जाएगी. मैने कई जगह जली हुई ब्रेड रख छोड़ी है क्योंकि मैने सुना है कि चूहों को ये नापसंद है.''

इसे भी पढ़ें

टॉपिक

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.