ब्लैकमेल कर 350 महिलाओं के कपड़े उतरवाए

वेबकैम
Image caption आरोप है कि महिलाओं को वेबकैम के सामने नग्न होने पर मजबूर किया गया

सैकड़ों महिलाओं को ब्लैकमेल कर वेबकैम के सामने नग्न होने पर मजबूर करने के आरोप में अमरीकी पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ़्तार किया है.

दोषी पाए जाने पर इस व्यक्ति को 105 वर्ष क़ैद की सज़ा हो सकती है. वकीलों का कहना है कि 27 वर्षीय कैरेन गैरी कज़रियान ने सैकड़ों महिलाओं के फेसबुक, स्काइप और ईमेल अकाउंट को हैक किया और उनकी नग्न और अर्धनग्न तस्वीरें हासिल कर ली.

आरोप है कि इस व्यक्ति ने इन महिलाओं को धमकी दी कि अगर उन्होंने कैमरा के सामने अपने कपड़े नहीं उतारे, तो वो ये तस्वीरें सार्वजनिक कर देगा.

अमरीकी न्याय मंत्रालय के एक प्रेस बयान में कैलिफ़ोर्निया के इस व्यक्ति पर आरोपों का विवरण दिया गया है.

कहा जा रहा है कि गैरी कज़रियान ने सैकड़ों लोगों के अकाउंट को न सिर्फ़ हैक किया, बल्कि उसका पासवर्ड भी बदल दिया, ताकि वे फिर अपने अकाउंट को खोल न सकें.

बयान

बयान में बताया गया है- अकाउंट्स पर नियंत्रण हासिल करने के बाद कज़रियान ने ईमेल पर अन्य फाइल्स पर महिलाओं की तस्वीरें खोजीं. साथ ही मित्रों के नाम और पासवर्ड्स भी हासिल कर लिया.

इन सूचनाओं का इस्तेमाल करके कज़रियान ने अपने को महिला की तरह पेश किया और दोस्तों को मैसेज भेजकर उन्हें वेबकैम के सामने नग्न होने के लिए राज़ी किया. ताकि वो उनकी तस्वीरें खींच सके.

अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि उन्हें कज़रियान के कंप्यूटर से 3000 महिलाओं की नग्न और अर्धनग्न तस्वीरें मिली हैं.

आरोप है कि कुछ तस्वीरें को ईमेल अकाउंट्स से ली गई हैं, जबकि कुछ अन्य कज़रियान ने स्काइप के ज़रिए ली है.

न्याय मंत्रालय के बयान के मुताबिक़ जब पीड़ित महिलाओं को ये पता चला कि वे अपनी मित्र से नहीं बात कर रही हैं, तो कज़रियान ने उन्हें ब्लैकमेल करना शुरू किया.

एफ़बीआई का कहना है कि कुछ मौक़ों पर तो कज़रियान ने कुछ संवेदनशील तस्वीरें सार्वजनिक करने की धमकी भी दी. एफ़बीआई ने इस कथित ब्लैकमेल को 'सेक्सोटॉर्शन' का नाम दिया है.

संबंधित समाचार