मलाला का एक और सफल ऑपरेशन

तालीबान के खिलाफ़ आवाज़ उठाने वाली पाकिस्तानी किशोरी मलाला युसफ़ज़ई का बर्मिघम के एक और ऑपरेशन किया गया है.

तालिबान चरमपंथियों ने 15 वर्षीय मलाला के सिर पर गोली मार दी थी.

लड़कियों की शिक्षा के समर्थन में अभियान चलाने के लिए मलाला पर अक्तूबर 2012 में गोली मारी गई थी.

मलाला के सिर में लगी गोली को तो पाकिस्तान में ही निकाल लिया गया था लेकिन बेहतर इलाज के लिए उसे ब्रिटेन लाया गया था.

बर्मिघंम के क्वीन एलिज़ाबेथ अस्पताल का कहना है कि शनिवार को हुए ऑपरेशन में मलाला की खोपड़ी के एक हिस्से पर टाइटेनियम की एक प्लेट लगाई गई है और सुनने का एक यंत्र लगाया गया है.ये ऑपरेशन लगभग पांच घंटे चला.

अस्पताल के प्रवक्ता का कहना है कि ओपरेशन के बाद मलाला की स्थिती स्थिर है और उनकी सेहत में सुधार हो रहा है.

अस्पताल का बताया है कि वो मलाला की सेहत से संतुष्ट हैं और वो पूरी तरह से होश में हैं और अस्पताल कर्मचारियों और अपने परिवारवालों से बात कर पा रही हैं.

मलाला को हफ्तों तक चले शुरुआती इलाज के बाद जनवरी में अस्पताल से छुट्टी दी गई थी.

मलाला का परिवार फिलहाल ब्रिटेन के वेस्ट मिडलैंड्स में रह रहा है और मलिला के पिता को लंदन के पाकिस्तान दूतावास में अगले तीन साल के लिए नौकरी दी गई है.

संबंधित समाचार