अमरीका के 'सबसे ख़तरनाक बंदूकधारी' की हत्या

स्नाइपर क्रिस काइल
Image caption क्रिस काइल के सिर पर इराकी चरमपंथियों ने बड़ा इनाम रखा था

अमरीकी इतिहास में सबसे खतरनाक स्नाइपर यानी बंदूकधारी समझे जाने वाले क्रिस काइल की टेक्सस के एक शूटिंग रेंज में गोली मार कर हत्या कर दी गई है.

क्रिस काइल ने इराक युद्ध में हिस्सा लिया और वो पूर्व अमरीकी नौसैनिक थे.

खबरों में कहा गया है कि उनका शव शनिवार को रफ क्रीक लॉज रेंज में पाया गया. उनके साथ एक और व्यक्ति का शव मिला है. इस मामले में एक संदिग्ध के गिरफ्तार किया गया है.

38 वर्षीय काइल ने 'अमेरिकन स्नाइपर' नाम से एक किताब लिखी जो बेस्ट सेलर रही. इस किताब में उन्होंने बंदूकधारी के मनोविज्ञान का जिक्र किया जिसके तहत उनके मुताबिक उन्होंने 250 से ज्यादा लोगों को मारा.

वो चार बार इराक में गए और उन्हें उनकी बहादुरी के लिए सम्मानित भी किया गया था.

साफ नहीं हत्या का मकसद

स्थानीय मीडिया की खबरों में कहा गया है कि हमलावर ने स्थानीय समय के अनुसार दोपहर साढ़े तीन बजे गोलियां चलाई और एक पीड़ित के वाहन में फरार हो गया.

पुलिस अफसर टॉमी ब्रायंट का कहना है कि इन हत्याओं का उद्देश्य साफ नहीं है और ये भी नहीं पता है कि दो लोगों को कैसे गोली मारी गई.

लेकिन उन्होंने कहा कि एक 25 वर्षीय संदिग्ध को घटना के पांच घंटे बाद शूटिंग रेंज से 70 किलोमीटर दूर हिरासत में लिया गया.

काइल के साथ मिल कर किताब लिखने वाले स्कॉट मैकइवेन का कहना है कि उन्हें इस घटना के बार में सुन कर बहुत धक्का लगा.

काइल को अमरीकी इतिहास में सबसे जबरदस्त बंदूकधारी माना जाता था.

'शैतान'

अमरीकी रक्षा मंत्रालय पेंटागन के अनुसार उन्होंने 160 लोग मारे लेकिन वो खुद इस आंकड़े को 255 बताते थे.

साल भर पहले काइल ने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में कहा था, “जितने भी लोगों ने मैंने मारा, मुझे पक्का विश्वास है कि वो गलत लोग थे.”

उन्होंने आगे कहा, “जब मेरा सामना भगवान से होगा, तो बहुत सारी बातों का हिसाब लिया जाएगा, लेकिन इनमें किसी की मौत के बारे में मुझसे नहीं पूछा जाएगा.”

अमरीकी सैन्य खुफिया विभाग के अनुसार इराकी चरमपंथी काइल को ‘शैतान’ के नाम से बुलाते थे और उन्होंने उनके सिर पर 20 हजार डॉलर का इनाम रख रखा था.

संबंधित समाचार