ड्रोन आखिरी रास्ता: सीआईए के नामित प्रमुख

 जॉन ब्रेनान
Image caption ब्रेनान को लगातार ड्रोन हमलों का विरोध कर रहे लोगों के नारों का सामना करना पड़ा.

अमरीकी खुफिया एजेंसी सीआईए के प्रमुख के पद के लिए ओबामा प्रशासन की तरफ से नामित किए गए जॉन ब्रेनन ने अमरीका के ड्रोन हमलों का बचाव करते हुए उन्हें "आखिरी रास्ता" कहा है.

ब्रेनन ने अमरीकी संसद में अपनी नियुक्ती पर संसद की मुहर लगवाने के लिए की जा रही एक सुनवाई के दौरान कहा कि ड्रोन हमले आखिरी चारे के तौर पर ही किए जाते हैं और इस बात का ध्यान रखा जाता है कि आम आदमी कम से कम कम नुकसान झेले.

इस दौरान ब्रेनन को लगातार ड्रोन हमलों का विरोध कर रहे लोगों के नारों का सामना करना पड़ा. यह सुनवाई इस खबर के बाद हुई है कि सांसदों को ड्रोन हमलों से सम्बंधित गोपनीय कागज़ात मुहैया कराए जाएंगे.

इन कागज़ात में अल कायदा के ऊपर दूसरे मुल्कों में ड्रोन हमलों के पीछे के कारण बताए गए हैं.

ब्रेनन, जिन्हें ओबामा ने सीआईए के प्रमुख के पद के लिए नामित किया है वो पिछले राष्ट्रपति जॉर्ज बुश के दौर में भी इसी खुफिया एजेंसी में एक बड़े पद पर कार्यरत रह चुके हैं.

'गंभीर चिंताएं'

जैसे ही ब्रेनन ने बोलना आरंभ किया, ड्रोन हमलों के विरोधी खड़े हो गए. एक कार्यकर्ता ने तख्ती उठा रखी थी जिस पर लिखा था,"ब्रेनान=ड्रोन हत्याएं".

अपने भाषण के बाद सवाल जवाब के एक दौर में ब्रेनान ने कहा,"कई अमरीकी यह सोचते हैं कि ड्रोन हमले कोई पुराना हिसाब चुकाने के लिए किए जाते हैं. यह एकदम गलत है. हम यह कदम तभी उठाते हैं जब कोई और रास्ता नहीं रह जाता".

मौके पर मौजूद संवाददाताओं का कहना है कि अमरीकी संसद की संबंधित समिति ने अभी तक इस बात का कोई संकेत नहीं दिया है कि वो ब्रेनान की नियुक्ति का विरोध करने वाली है.

ऐसी माना जा रहा है कि पहले उन्हें समिति की और बाद में पूरी संसद की मंज़ूरी मिल जाएगी.

जब उनसे सीआईए द्वारा अपने कैदियों को पानी में डुबोने के बारे में पूछा गया तो उन्हों कहा,"यह बेहद गलत था और इसे फिर कभी नहीं दोहराया जाना चाहिए".

लेकिन उन्होंने इसे यंत्रणा कहने से इनकार किया.

उन्होंने कहा,"मैं अपने साथियों के सामने इस तरह के क़दमों का निजी तौर पर विरोध कर चुका हूँ पर मैंने इसे रोकने की कोशिश नहीं की क्योंकि ऐसा एजेंसी के किसी दूसरे विभाग द्वारा किया जा रहा था जो मेरे मातहत नहीं था".

ब्रेनन ने दावा किया कि उन्हें बताया गया है कि कैदियों को शारीरिक कष्ट देने वाले क़दमों के कारण "काफी कीमती" जानकारी जुटाई जा सकी है.

ड्रोन विरोधी

ड्रोन हमलों के विरोधी कहते हैं कि इन हमलों के कारण कई मासूम लोग भी मारे जाते हैं.

ओबामा सरकार संसद को जो कागज़ात देगी उनमे वो कागज़ात भी शामिल होंगे जिनमे बताया गया है कि किन कारणों से उसने चरमपंथी गतिविधियों में शामिल अमरीकी नागरिकों को भी ड्रोन हमलों में मार देने की अनुमति दी गई.

चरमपंथियों के बीच बेहद लोकप्रिय रहे अनवर अल अवलाकी और उनके बेटे को भी एक ड्रोन हमले में मार गिराया गया था.

अनवर अल अवलाकी अमरीकी थे.

संबंधित समाचार