सौ ताकतवर महिलाओं में दो भारतीय मूल की

शमी चक्रबर्ती
Image caption शमी नागरिक अधिकारों के लिए आवाज़ उठाने के लिए जाना जाता है.

बीबीसी रेडियो 4 के कार्यक्रम वूमेन आवर ने वर्ष 2013 के लिए ब्रिटेन की 100 सबसे ताकतवर महिलाओं की सूची जारी की है.

ब्रिटेन की सबसे ताकतवर 100 महिलाओं की सूची में भारतीय मूल की दो महिलाएं शामिल हैं.

इस सूची में ब्रिटेन की महारानी एलिजाबेथ द्वितीय शीर्ष स्थान पर हैं. जबकी सांसद और गृह मंत्री टेरेज़ा मे दूसरे स्थान पर हैं.

भारतीय मूल की महिलाओं में उद्यमी पिंकी लिलानी और नागरिक अधिकारों के लिए लड़ने वाली शमी चक्रबर्ती के नाम शामिल हैं.

शमी चक्रबर्ती का जन्म हैरो में हुआ और पढ़ाई लंदन स्कूल ऑफ इकॉनॉमिक्स से हुई.

उन्हें नागरिक अधिकारों की हिमायत करने वाले के तौर पर जाना जाता है.

सूची

Image caption पिंकी जानी-मानी पाक कला विशेषज्ञ हैं

कानून की पढ़ाई करने के बाद शमी चक्रबर्ती ने गृह मंत्रालय में नौकरी करने से शुरुआत की जिसके बाद वो गृह मंत्रालय की ही नागरिक अधिकारों की वकील बनी.

फिलहाल वो अंतरराष्ट्रीय संबधों पर काम करने वाले डिचले फाउंडेशन की गवर्नर हैं और 2003 से नेशनल काउंसिल फॉर सिविल लिबर्टिज़ की निदेशक हैं.

वहीं पिंकी लिलानी ब्रिटेन में महिलाओं की उपलब्धियों को सराहने के लिए कई तरह के अवार्ड देती हैं.

इन अवार्ड्स में एशियन वीमेन ऑफ एचिवमेंट अवार्ड, वूमेन ऑफ फ्यूचर अवार्ड और ग्लोबल फ्यूचर अवार्ड शामिल हैं.

वो भारतीय खाने की जानी-मानी पाक कला विषेशज्ञ हैं और स्पाइस मैजिक कंपनी की मालकिन भी हैं.

पिंकी लिलानी का जन्म 1954 में कोलकाता में हुआ और मुंबई के सोफिया कॉलेज और कोलकाता के लॉरेटो कॉलेज से पढ़ाई की.

संबंधित समाचार