ओसामा की मुखबिरी करने वाला बनेगा हीरो!

  • 28 फरवरी 2013
ओसामा, एबटाबाद
Image caption ऐबटाबाद की इसी कोठी में ओसामा बिन लादेन मारे गए थे.

ओसामा बिन लादेन का पता लगाने में अमरीकी गुप्तचर संगठन सीआईए की मदद करने वाले पाकिस्तानी डॉक्टर को अमरीका की प्रतिनिधि सभा में राष्ट्रीय नायक का दर्जा देने के लिए एक प्रस्ताव लाया गया है.

डॉक्टर शकील अफरीदी ने पाकिस्तान के ऐबटाबाद की एक कोठी में बिन लादेन के ठिकाने और उसकी पहचान के बारे में अमरीका को जानकारी मुहैय्या कराई थी.

अमरीकी अभियान के दौरान बिन लादेन के मारे जाने के तीन हफ्ते बाद डॉक्टर शकील अफरीदी को पाकिस्तान की सरकार ने गिरफ्तार कर लिया था.

प्रतिनिधि सभा में लाए गए प्रस्ताव में डॉक्टर अफरीदी को जेल से रिहा कराए जाने की बात भी कही गई है.

कांग्रेस में प्रस्ताव

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक कैलिफोर्निया से कांग्रेस सदस्य डाना रोहराबशर ने नौ अन्य सांसदों के साथ मिलकर यह प्रस्ताव पेश किया है कि डॉक्टर अफरीदी को अमरीकी हीरो का दर्जा दिया जाए और उसे पाकिस्तान की हिरासत से जल्द रिहा करवाया जाए.

रोहराबशर यूरोप, यूरेशिया और संभावित खतरों से जुड़ी कांग्रेस की उपसमिति की अध्यक्ष भी हैं.

उन्होंने एक बयान में कहा,"सभी अमरीकी डॉक्टर अफरीदी के आभारी हैं. उन्होंने ओसामा बिन लादेन को खोजने में हमारी मदद की. उन्होंने और उनके परिवार ने हमारी कथित सहयोगी पाकिस्तानी सरकार के हाथों बड़ी कीमत चुकाई है."

रोहराबशर ने कहा,"हम डॉक्टर अफरीदी की तरफ पीठ नहीं दिखा सकते. हमारे सैन्य बलों को खुफिया जानकारी मुहैया कराकर उन्होंने अपना जीवन खतरे में डाला और अब वे पाकिस्तान में एक कैदी की हैसियत से 33 साल की सजा काट रहे हैं."

रविवार को ऑस्कर पुरस्कार समारोह में फीचर फिल्म 'जीरो डार्क थर्टी' के दो कलाकारों ने भी डॉक्टर अफरीदी की तकलीफ का जिक्र किया था.

संबंधित समाचार