आत्महत्या करने वाले का बेरहम रखवाला

आत्महत्या, बचाव, चीन, गुआंगतोंग
Image caption खुदकुशी के लिए ब्रिज पर चढ़ा चेन फुचाओ.

कर्ज़ के बोझ से दबा एक शख्स इस कदर परेशान था कि उसने खुदकुशी करने का फ़ैसला कर लिया. अपनी जान देने जव वो एक पुल पर पहुंच तो उसे बचाने जो आया वो बड़ा बेरहम निकला.

यह घटना है चीन के गुआंगतोंग प्रांत की जहां सरकारी एजेंसिया उस पर नजर पड़ते ही सक्रिय हो गई.

बताया जाता है कि चेन फ़ुचाओ पर कर्ज़ का बड़ा बोझ था और इसी गम में उन्होंने खुद को खत्म कर लेने का फैसला कर लिया.

आत्महत्या करने के लिए वे गुआंगतोंग प्रांत में स्थित एक ओवरब्रिज के ऊपरी सिरे पर पहुंच गए.

और इस बीच जबकि सरकारी एजेंसियां चेन फ़ुचाओ को बचाने में व्यस्त थीं तभी पास से गुजर रहा एक राहगीर इस मामले में दखल देने का फ़ैसला किया और इसके बाद जो कुछ भी हुआ उससे वहां मौजूद कई लोग भौंच्चके रह गए.

बचाने वाले की बेरहमी

Image caption बचाने वाले ने चेन को ब्रिज के ऊपर से धक्का दे दिया.

घटना से जुड़े वीडियो फुटेज में दिखाया गया है कि इस राहगीर ने खुदकुशी की कोशिश में लगे उस शख्स को ओवरब्रिज पर से धक्का दे दिया.

ख़बरों के मुताबिक राहगीर क नाम लाई जियानशेंग है.

66 वर्षीय लाई के बारे में कहा जा रहा है कि वे एक सेवानिवृत्त फौज़ी हैं.

चेन फ़ुचाओ को पुल पर से धक्का देने से पहले लाई ने उस तक हाथ मिलाने के लिए पहुंच गए थे.

धक्का दिए जाने के बाद चेन ब्रिज के आठ मीटर नीचे आपातकालीन परिस्थिति से निपटने के लिए रखे गए हवा भरे गद्दों पर गिर पड़ा.

हालांकि चेन की जान बच गई लेकिन कलाई और पीठ में चोट लगने की वजह से उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

चेन फ़ुचाओ पर आम जनजीवन की शांति भंग करने के लिए मुकदमा चलाया जा सकता है.

खबरों के मुताबिक लाई जियानशेंग पर जान बूझकर किसी को चोटिल करने का आरोप लगाया गया है.

संबंधित समाचार