कॉफ़ी पीजिए, सड़क दुर्घटनाओं से 'बचिए'

  • 22 मार्च 2013
Image caption नींद भगाने के लिए कॉफ़ी एक कारगर उपाय है

अगर आप लंबी दूरी तक गाड़ी चलाते हैं तो रास्ते में रुक कर पी गई कॉफ़ी आपको दुर्घटनाओं से बचा सकती है.

ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं का कहना है कि लंबी दूरी के ऐसे ड्राइवरों से कम दुर्घटनाएं हुई है जो रास्ते में रुककर कॉफ़ी पी लेते हैं.

शोधकर्ताओं ने 530 ऐसे ड्राइवरों, जिनका हाल ही में दुर्घटना हुई थी और 517 ऐसे ड्राइवरों जिनकी दुर्घटना नहीं हुई थी, के अध्यययन के बाद ये निष्कर्ष निकाला है.

ब्रिटिश मेडिकल जरनल में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार कॉफ़ी और दूसरे ऐसे पेय पदार्थ जिनमें उत्तेजक कैफ़ीन पाया जाता है दुर्घटना की आशंका को कम कर देते हैं. रिपोर्ट के अनुसार ये शायद इसलिए है कि कैफ़ीन सावधानी जगाता है.

नींद का विकल्प नहीं

हालांकि सड़क सुरक्षा विशेषज्ञों ज़ोर देते हैं कि कैफ़ीन नींद का विकल्प नहीं है.

अध्ययन के अनुसार एक तिहाई से ज़्य़ादा लोगों ने कहा कि उन्होंने कैफ़ीनयुक्त पेय लिए और इनमें से आधों ने कहा कि ऐसा उन्होंने जागे रहने के लिए किया.

ये परिणाम उम्र, नींद की आदतों, कितने किलोमीटर गाड़ी चली, कितनी बार रुका गया, और रात को गाड़ी चलाने के कार्यक्रम को ध्यान में रखकर निकाले गए हैं.

अगर किसी ड्राइवर का पिछले पांच साल में दुर्घटनाओं का रिकॉर्ड काफ़ी ख़राब रहा है तो उसके दुर्घटनाग्रस्त होने की आशंका 81% तक बढ़ जाती है

करीब 70% ड्राइवरों ने कहा कि जब वो थक गए तो सोने के लिए रुक गए. सड़क सुरक्षा विशेषज्ञ इसकी पुरज़ोर सिफ़ारिश करते हैं.

मुख्य शोधकर्ता लीसा शेरवुड और सिडनी विश्वविद्यालय में उनके सहयोगी कहते हैं कि ये तो तय है कि थके हुए ड्राइवरों को रुक जाना चाहिए लेकिन ये अब भी साफ़ नहीं है कि इस ठहराव के दौरान किस चीज़ से उन्हें ज़्यादा फ़ायदा मिलता है, सोने से या कॉफ़ी पीने से.

उनका कहना है, ”झपकी लेने, एक कप कॉफ़ी पीने और थोड़ी देर चहलकदमी करने का ड्राइविंग के दौरान जागे रहने पर अलग-अलग असर पड़ता है. चूंकि अभी ये फ़र्क ठीक से समझ नहीं आ सका है इसलिए इसके और ज़्यादा अध्ययन की ज़रूरत है.”

ब्रिटेन के सड़क सुरक्षा विशेषज्ञों का कहना है कि थकान का असली इलाज नींद ही है.

यातायात विभाग के एक प्रवक्ता का कहना है, “ड्राइविंग से हुई थकान से दुर्घटना की आशंका कई गुना बढ़ जाती है इसलिए हम ड्राइवरों को सलाह देते हैं कि वो गाड़ी में चढ़ने से पहले अच्छी तरह आराम कर लें.”

“ड्राइवर को अच्छी तरह सोना चाहिए, रास्ते में पर्याप्त ठहराव तय कर लेने चाहिए और अगर थक जाए तो रुक जाना चाहिए.”

संबंधित समाचार