फांसी लगने से हुई थी पुतिन विरोधी की मौत

बोरिस बेरेज़ोव्स्की
Image caption बोरिस बेरेज़ोव्स्की

पुलिस के अनुसार पोस्टमार्टम रिपोर्ट से जानकारी मिली है कि रूस के राष्ट्रपति व्लादिमिर पुतिन के धुर विरोधी प्रख्यात उद्योगपति बोरिस बेरजोव्स्की की मौत फ़ांसी लगने से हुई थी.

शनिवार को बर्कशायर के अपने घर के बाथरूम के फ़र्श पर 67 वर्षीय बेरजोव्स्की मृत पाए गए थे.

पुलिस के अनुसार मौका-ए-वारदात से संघर्ष के कोई चिन्ह नहीं मिले थे. उनके शरीर के अभी और परीक्षण किए जाने हैं.

कई परीक्षण बाकी

अन्य परीक्षणों, टॉक्सिकोलॉजी यानि विष संबंधी परीक्षण और हिस्टोलॉजी यानि ऊतक संबंधी परीक्षण के परिणाम आने में कई हफ़्ते और लग सकते हैं.

मिल लेन स्थित बेरजोव्स्की की प्रॉपर्टी से उनका शव रविवार को रातोंरात हटा लिया गया था.

टेम्स वैली पुलिस का कहना है कि उनके घर पर जांच अभी कई दिन तक और चलेगी.

पुलिस का कहना है कि उनके घर पर फ़ॉरेंसिक जांच की जा रही है और “इसके कई दिन तक चलने की संभावना है.”

मुख्य खुफिया निरीक्षक केविन ब्राउन ने इतवार की दोपहर कहा, “जब तक काम पूरा नहीं हो जाता, तब तक मौका-ए-वारदात को छेड़खानी से बचाने के लिए, घेरा पड़ा रहेगा.”

उन्होंने कहा, “जब तक जांच जारी है तब तक हम इस पर टिप्पणी नहीं कर सकते कि घर में क्या मिला.”

रूसी राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन के धुर विरोधी बेरजोव्स्की की शनिवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी.

रविवार से पहले पुलिस का कहना था कि बेरजोव्स्की की मौत के मामले में ‘किसी अन्य’ के शामिल होने के कोई सबूत नहीं हैं.

इससे पहले व्यादीमिर पुतिन के आलोचक रहे केजीबी के पूर्व जासूस एलेक्ज़ेंडर लित्विनेन्को की भी 2006 में लंदन में मौत हो गई थी.

आरोप लगाया गया था कि उन्हें रेडियोधर्मी पदार्थ के माध्यम से ज़हर दिया गया था. उनकी पत्नी ने आरोप लगाया था कि लित्विनेन्को की हत्या रूसी अधिकारियों ने करवाई है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा ? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें)

संबंधित समाचार