फ्रांस के सैनिकों के हाथों दो भारतीय की मौत

मध्य अफ्रीकी गणराज्य
Image caption मध्य अफ्रीकी गणराज्य की आबादी करीब 45 लाख है

मध्य अफ्रीकी गणराज्य या कार की राजधानी बैंगुई के अतंरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर तैनात फ्रांसीसी सैनिकों के हाथों गलती से दो भारतीय नागरिकों की मौत हो गई है.

फ्रांस के रक्षा मंत्री ने इस घटना के बार में जानकारी दी हैं. वहीं एक वक्तव्य जारी किया गया जिसमें कहा गया है कि सोमवार को हुई इस घटना में छह लोग घायल हो गए हैं.

भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कार में मौजूद 100 भारतीय नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चत करने का आश्वासन दिलाया है.

वहीं फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद का कहना है कि विद्रोहियों को लोगों का आदर करना होगा.

राष्ट्रपति ने वहां मौजूद अपने नागरिकों का विद्रोहियों से बचाव करने के लिए सैकड़ों की संख्या में फ्रांसीसी सैनिकों को भेजा हुआ है.

सेना दोगुनी

शनिवार को फ्रांस ने अपनी सैन्य टुकड़ी की संख्या को दोगुनी कर दिया था. फ्रांस के रक्षा मंत्रालय की तरफ से जारी किए गए वक्तव्य में कहा गया है कि उसके सैनिकों ने एयरपोर्ट की तरफ बढ़ रहे तीन वाहनों को पहले चेतावनी देने के लिए गोली चलाई लेकिन बाद में जब दूसरी ओर से गोलियां चली तो उन्होंने इसके जवाब में इन तीन वाहनों पर गोलियां चलाईं.

इस हमले में दो भारतीय नागरिक और कई कैमरुन निवासी घायल हो गए. राष्ट्रपति ओलांद ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को चिट्ठी लिख इस घटना पर खेद प्रकट किया है.

भारत के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी किए गए वक्तव्य में इस चिट्ठी का ब्यौरा दिया गया है. इसमें कहा गया है, ''ओलांद ने इस घटना पर संवेदना व्यक्त करते हुए प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को इस मामले की जांच का आश्वासन दिया है साथ ही इस बात का भी भरोसा दिलाया है कि जो लोग घायल हुए हैं उनका इलाज फ्रांसीसी मेडिकल टीम करेगी.''

मध्य अफ्रीकी गणराज्य की आबादी करीब 45 लाख है. फ्रांस से 1960 में मिली आजादी के बाद से ही वहां सिलसिलेवार विद्रोही गतिविधियां होती रहती हैं.

संबंधित समाचार