एफ़िल टॉवर को ख़ाली कराया गया

Image caption एफिल टॉवर पर चरमपंथी हमले की धमकी

दुनिया के अचरजों में शुमार एफ़िल टॉवर को शनिवार शाम पूरी तरह से ख़ाली कराने की नौबत आ गई.

एक अज्ञात फ़ोन कॉल के बाद एफ़िल टॉवर की प्रबंधन व्यवस्था और फ़्रांस के आतंकवाद निरोधक पुलिस से जुड़े अधिकारियों को ये फ़ैसला लेना पड़ा.

इस अज्ञात फ़ोन कॉल में इस टॉवर को उड़ाने की धमकी दी गई थी.

जब इस टॉवर को ख़ाली कराया गया उस वक़्त क़रीब एक हज़ार चार सौ पर्यटक टॉवर को देखने के लिए मौजूद थे.

इसके बाद इस टॉवर के आस पास सुरक्षा व्यवस्था मुस्तैद कर दी गई है.

खोजी कुत्तों के साथ आतंक निरोधक दस्ते ने पूरे इलाक़े की निगरानी अपने हाथ में ले ली.

पिछले कुछ समय के दौरान इस टॉवर पर हमले की धमकी कई बार मिल चुकी है.

2011 में भी जब इस टॉवर को उड़ाने की धमकी मिली थी, तब क़रीब चार हज़ार पर्यटकों को इलाक़े से हटाया गया था.

सुरक्षा व्यवस्था से जुड़े अधिकारियों को कहना है कि फ्रांस माली के ख़िलाफ़ चल रहे सैन्य अभियान में शामिल है, इसके चलते ही ये चरमपंथियों ने ये धमकी दी है.

संबंधित समाचार