मिसाइल प्रणाली तैनात करेगा अमरीका

उत्तर कोरिया के बयानों से तनाव
Image caption उत्तर कोरिया की तरफ से कई भड़काऊ आए हैं

उत्तर कोरिया की तरफ से आ रही धमकियों के बीच अमरीका एक अत्याधुनिक मिसाल रक्षा प्रणाली को पश्चिमी प्रशांत महासागर में स्थित अपने गुआम द्वीप पर भेज रहा है.

पेंटागन के अनुसार वो आने वाले हफ्तों में बैलिस्टिक टर्मिनल हाई अल्टीट्यूड एरिया डिफेंस सिस्टम (थाड) को वहां तैनात कर देगा.

हाल ही में उत्तर कोरिया ने दक्षिण कोरिया और अमरीका को निशाना बनाने की धमकी दी थी.

फरवरी में उत्तर कोरिया ने अपना तीसरा परमाणु परीक्षण किया जिसके बाद संयुक्त राष्ट्र ने उसके खिलाफ प्रतिबंध लगाए. इसके अलावा अमरीका और दक्षिण कोरिया के साझा सैन्य अभ्यास ने उत्तर कोरिया की नाराजगी बढ़ाई है.

थाड सिस्टम में एक लॉन्चर ट्रक, इंटरसेप्टर मिसाइलें और दो एएन/टीपीवाई ट्रैकिंग रडार के अलावा इंटिग्रेटिड फायर कंट्रोल सिस्टम भी शामिल है.

'वास्तविक और स्पष्ट खतरा'

पेंटागन ने एक बयान में कहा है कि उत्तर कोरिया की तरफ से क्षेत्रीय बैलिस्टिक मिसाइल संबंधी धमकियों को देखते हुए एहतियात के तौर पर मिसाइल रक्षा प्रणाली को गुआम भेजा रहा है.

बयान के अनुसार, “उत्तर कोरिया के भड़काऊ बयानों को देखते हुए अमरीका पूरी तरह चौकन्ना है और अपने क्षेत्र, अपने सहयोगियों और अपने राष्ट्रीय हितों की रक्षा करने के लिए तैयार है.”

हालिया हफ्तों में उत्तर कोरिया अपनी धमकियों में अमरीकी क्षेत्र गुआम में स्थित सैन्य ठिकानों और अमरीकी राज्य हवाई को निशाना बनाने की बात कहता रहा है.

अमरीकी रक्षा मंत्री चक हेगेल ने बुधवार को अपने एक अहम भाषण में कहा, “पिछले कुछ हफ्तों में उनकी तरफ से जो कदम उठाए गए हैं, वो वास्तविक और स्पष्ट खतरे को दर्शाते हैं.”

उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया के कारण दक्षिण कोरिया और जापान के हितों के लिए भी खतरा पैदा हुआ है.

पेंटागन की ताजा घोषणा से पहले उत्तर कोरिया ने उस सीमा चौकी को बंद कर दिया जिससे होकर दक्षिण कोरियाई लोग साझा तौर पर चलाए जाने वाले औद्योगिक क्षेत्र में काम करने जाते हैं. 2009 के बाद पहली ऐसा कदम उठाया गया है.

उधर उत्तर कोरिया के इकलौते शक्तिशाली सहयोगी चीन ने कहा है कि उसने अपने अधिकारियों को उत्तर कोरिया, दक्षिण कोरिया और अमरीका के राजदूतों से बात करने के लिए भेजा है.

संबंधित समाचार