34 लाख कारों को वापस लेंगे जापानी निर्माता

Image caption टोयोटा सहित जापान के चार प्रमुख कार निर्माता जिन कारों को वापस ले रहे हैं वे लगभग 10 साल पुरानी हैं.

जापान के शीर्ष चार कार निर्माता यात्री एयरबैग में खराबी के चलते दुनिया भर में कुल 34 लाख कारों को वापस ले रहे हैं.

टोयोटा जो 17.3 लाख कारों को वापस ले रही है, ने कहा है कि वाहन के एक हिस्से में खराबी है, “जिसके कारण एयरबैग इनफ्लेटर फट सकता है और दुर्घटना की स्थिति में एयरबैग असामान्य ढंग से पेश आ सकता है.”

दुनिया भर में होंडा 11.3 लाख कारों को वापस ले रही है, जबकि निसान लगभग पाँच लाख कारों को और माजदा 45,000 कारों को वापस ले रही है.

ब्रिटेन में टोयोटा, निसान और होंडा कुछ मॉडलों को वापस ले रहे हैं.

इन कारों की बिक्री 2000-04 के दौरान की गई थी, और इन कंपनियों ने बताया है कि खराब पुर्जे की आपूर्ति ताकाता कॉर्पोरेशन द्वारा की गई है.

वैश्विक कार कंपनियाँ आमतौर पर खराबी का पता चलने पर तेजी दिखाते हुए वाहनों को जाँच और मरम्मत के लिए वापस ले लेती हैं.

मामूली खराबी

आमतौर पर ऐसी कमियाँ मामूली सी होती हैं और शायद ही ये किसी दुर्घटना या जान-माल के नुकसान का कारण बनती हैं.

टोक्यो शेयर बाजार में गुरुवार को ताकाता के शेयर 9% गिरकर 1,819 येन पर बंद हुए.

टोयोटा के प्रवक्ता रयो साकाई ने बीबीसी को बताया कि कंपनी को एयरबैग इनफ्लेटर के फटने की पाँच अलग-अलग घटनाओं के बारे में पता चला है.

साकाई ने बताया कि इनमें से दो घटनाएँ जापान में हुईं हैं और तीन अमरीका में.

हालाँकि, उन्होंने बताया कि इन घटनाओं के चलते कोई घायल नहीं हुआ है.

इस बीच होंडा, निसान और माजदा ने कहा है कि इन कारों को लेकर कोई दुर्घटना नहीं हुई है.

सभी चार कार निर्माताओं ने कहा है कि वे खराब हिस्से को मुफ्त में बदलेंगे.

निसान के प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया कि, “हम इस मसले से निपटने के लिए स्वैच्छिक रूप से वापसी कर रहे हैं और चालक सीट के बगल वाली सीट के बैग इनफ्लेटर को बदल रहे हैं.”

उन्होंने बताया कि, “हमारी योजना अगले 30 दिनों के भीतर ग्राहकों तक खबर पहुँचाने की है.”

संबंधित समाचार