बॉस्टन धमाका: प्रेशर कुकर बम का सुराग

बॉस्टन धमाका
Image caption जाँच कर रहे अधिकारियों को धातुओं के टुकड़े मिले हैं

अमरीका के बॉस्टन शहर में सोमवार को हुए धमाकों में इस्तेमाल बम शायद प्रेशर कुकर में रखा गया था- ये कहना है धमाकों की जाँच कर रहे अधिकारियों का.

आंतरिक सुरक्षा विभाग और जाँच एजेंसी एफ़बीआई की ओर से जारी एक साझा बुलेटिन में जो तस्वीर दिखाई गई है, उसमें पीठ पर लटकाने वाले एक काले बैग के अवशेष, एक विस्फोटक उपकरण और धातुओं के कुछ टुकड़े दिखते हैं.

सोमवार को बॉस्टन मैराथन की फिनिश लाइन के निकट हुए दो धमाकों में तीन लोगों की मौत हो गई थी और 170 लोग घायल हुए थे.

जो तीन लोग मारे गए हैं, उनमें आठ साल का एक बच्चा, 29 साल की एक महिला और चीन की एक छात्रा शामिल है.

बॉस्टन से बीबीसी संवाददाता पॉल एडम्स का कहा है कि मंगलवार की रात बॉस्टन शहर के कई हिस्सों में मारे गए लोगों के लिए प्रार्थना सभाओं का आयोजन किया गया.

प्रार्थना सभा

गुरुवार को राष्ट्रपति बराक ओबामा भी बॉस्टन जाएँगे और एक प्रार्थना सभा में हिस्सा लेंगे.

इस बीच एफ़बीआई के स्पेशल एजेंट रिचर्ड डेस लॉरियर्स ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि नाइलॉन के टुकड़े घटनास्थल से बरामद किए गए हैं. इसके साथ-साथ बॉल बियरिंग और कीलों के टुकड़े भी मिले हैं, जिन्हें शायद प्रेशर कुकर उपकरण में रखा गया था.

उन्होंने बताया कि जो भी चीज़ें घटनास्थल से मिली हैं, उन्हें वर्जीनिया के क्वांटिको स्थित एजेंसी के लेबोरेट्री में भेजा जाएगा, जहाँ विशेषज्ञ ये पता लगाने की कोशिश करेंगे कि कौन सा उपकरण इस्तेमाल हुआ था.

लॉरियर्स ने बताया, "जाँच अभी शुरुआती दौर में है. किसी ने अभी तक ज़िम्मेदारी लेने का दावा नहीं किया है. इसलिए संदिग्धों की पहचान और उनकी मंशा अब भी स्पष्ट नहीं है."

उन्होंने लोगों से अपील की कि अगर उन्हें कोई भी संदेहास्पद गतिविधि दिखे, तो उन्हें इसकी रिपोर्ट करनी चाहिए. समाचार एजेंसी एपी ने जाँच कर रहे अधिकारियों के एक करीबी सूत्र के हवाले से बताया है कि बम को 1.6 गैलन की क्षमता वाले एक प्रेशर कुकर में रखा गया था.

सूत्र का कहना है कि बमों को एक काले बैग में रखा गया था और फिर वहाँ छोड़ दिया गया था. बीबीसी संवाददाता का कहना है कि रिपोर्टों में ये भी कहा जा रहा है कि एक सर्किट बोर्ड और बैटरी पैक भी घटनास्थल से बरामद किए गए हैं.

उपकरण

Image caption मारे गए लोगों को लोग अपनी तरह से श्रद्धांजलि दे रहे हैं

घायलों का इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि उनकी चोटों से ये संकेत मिलता है कि बमों में धातुओं के टुकड़ों और छर्रों का इस्तेमाल किया गया था.

उसी संवाददाता सम्मेलन में मासाच्युसेट्स के गवर्नर डेवल पैट्रिक ने कहा कि बॉस्टन के लोग इस हमले से अपने आप को संभाल लेंगे और जख़्म भरने की कोशिश करेंगे.

गुरुवार की सुबह राष्ट्रपति बराक ओबामा मारे गए लोगों के लिए आयोजित एक प्रार्थना सभा में शामिल होंगे. व्हाइट हाउस का कहना है कि ओबामा ने कनास की अपनी प्रस्तावित यात्रा को रद्द कर दिया है.

बॉस्टन धमाके में मारे गए तीन लोगों में आठ साल का एक बच्चा मार्टिन रिचर्ड भी था, जो बॉस्टन के डोरचेस्टर इलाक़े का रहने वाला था.

वो उस समय मैराथन की फिनिशिंग लाइन पर अपनी माँ और बहन के साथ खड़ा था, जब धमाका हुआ. दोनों ही इस धमाके में बुरी तरह घायल हो गए थे.

एक महिला, जो इस धमाके में मारी गईं, वो थीं 29 वर्षीय क्रिस्टल कैम्पबेल, जो एक रेस्तरां में मैनेजर थीं. बॉस्टन यूनिवर्सिटी के मुताबिक चीन की रहने वाली एक ग्रेजुएट छात्रा भी इस धमाके में मारी गई है.

न्यूयॉर्क स्थित चीन के वाणिज्य दूतावास ने इसकी पुष्टि की कि मारी गई छात्रा चीन की नागरिक थी. उनके परिजनों के अनुरोध पर उनका नाम सार्वजनिक नहीं किया जा रहा है.

संबंधित समाचार