रस्सियों और ज़ंजीर की जकड़न में थी ज़िंदगी

दाएं से बाएं: मिशेल नाइट, जिना डे जीज़ज़, और अमांडा बैरी
Image caption मिशेल नाइट, जिना डे जीज़ज़, और अमांडा बैरी की अपहरण के पहले की तस्वीरें

अमरीका में क्लीवलैंड पुलिस के प्रमुख ने कहा है कि ओहायो में करीब एक दशक तक बंधक बनाकर रखी गईं तीन महिलायों को रस्सियों और ज़ंजीरों में जकड़ कर रखा गया था.

पूर्व बस ड्राइवर एरियल कास्त्रो और उनके दो भाइयों – पेड्रो और ओनिल को इन तीन महिलाओं को एक घर में बंधक बनाकर रखने के आरोप में गिरफ़्तार किया गया है. कास्त्रो पर अपहरण और यौन शोषण का आरोप लगाया गया है. उनके दो भाइयों पर एरियल कास्त्रो का साथ देने का आरोप है.

इस गिरफ़्तारी और महिलाओं की रिहाई के बाद से आ रही जानकारियों ने दुनिया भर में लोगों को सकते डाल दिया. ऐसी ही दिल दहला देने वालीं कुछ और जानकारियां बुधवार को सामने आई हैं.

पुलिस प्रमुख माइकल मैकग्रॉ ने अमीरीकी चैनल एनबीसी को बताया है कि इन महिलाओं को कभी-कभार सिर्फ़ घर के आंगन तक ही जाने दिया जाता था.

उनका कहना था कि परिस्थितियों को देखते हुए अमांडा बैरी, जिना डे-जिज़ज़ और मिशेल नाइट की हालत ठीक-ठाक ही थी.

दर्दनाक

पुलिस प्रमुख ने टीवी चैनल एनबीसी को बताया, “फ़िलहाल हम हिरासत में लिए गए तीनों लोगों से पूछताछ कर रहे हैं. वो काफ़ी कुछ बता रहे हैं.”

माइकल मैकग्रॉ ने पड़ोसियों के उन आरोपों का भी खंडन किया है जिनमें कहा जा रहा था कि पुलिस ने पहले भी इसी घर के बारे में की गई शिकायतों पर अधिक गौर नहीं किया था.

पुलिस अधिकारी बंधक महिलाओं के कई बार गर्भवती होने की ख़बरों की पुष्टि भी नहीं कर पाए. अमरीकी मीडिया और लोगों में इस दर्दनाक और अविश्वसनीय सी लगने ख़बर के बारे में भारी उत्सुकता है.

अमांडा बेरी 16 साल की उम्र में साल 2003 में लापता हुई थीं. दूसरी महिला जिना डे-जिज़ज़ 14 साल की उम्र में साल 2004 से गायब थी. जबकि मिशेल नाइट को 20 साल उम्र में साल 2002 में आख़िरी बार देखा गया था.

जिस घर में इन्हें बंधक बनाकर रखा गया था उसी घर के दरवाजों को चीखते-चिल्लाते हुए पीट-पीट अमांडा बैरी पड़ोसियों को सचेत किया. उस समय बंधन बनाने तीनो लोग घर पर नहीं थे.

अमांडा पड़ोसियों की सहायता से निकली. बाद में पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और उसे दो अन्य महिलाएं घर के भीतर मिलीं.

संबंधित समाचार