पूर्व पाक प्रधानमंत्री गिलानी के बेटे का अपहरण

अली हैदर गिलानी
Image caption युसुफ़ रज़ा गिलानी ने अपहरण के लिए विरोधी दलों पर आरोप लगाया है.

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री यूसुफ रजा गिलानी के बेटे का कुछ अज्ञात बंदूक़धारियों ने एक चुनावी रैली से अपहरण कर लिया है.

पूर्व प्रधानमंत्री ने बीबीसी से कहा है कि उनके बेटे को मुलतान से अग़वा किया गया. वो पाकिस्तान पीपल्स पार्टी के उम्मीदवार हैं.

गिलानी के छोटे बेटे अली हैदर गिलानी पंजाब में प्रांतीय असेंबली का चुनाव लड़ रहे हैं.

यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने अपहरण का इलज़ाम अपने विरोधी दलों पर लगाया है. पाकिस्तान में शनिवार को मतदान किया जाएगा.

खबरों के अनुसार अली हैदर गिलानी के चुनावी काफिले पर फरख़ टाउन इलाके में फायरिंग हुई.

पुलिस का कहना है कि हमलावर मोटरसाइकल और गाडि़यों में सवार थे.

पीएमएल(एन) पर आरोप

गिलानी ने अपने बेटे के चुनावी काफिले हमले के लिए पीएमएल(एन) को जिम्मेदार बताया है.

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने इस बारे में राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी और सेना प्रमुख अश्फाक परवेज कियानी से बात की है.

हमले में अली हैदर गिलानी के सचिव के मारे जाने की भी खबर है जबकि पांच लोग घायल बताए जाते हैं.

चश्मदीदों का कहना है कि हमलावर होंड़ा कार और मोटरसाइकिलों पर सवार थे.

एक व्यक्ति ने पाकिस्तान के टीवी चैनेल जियो को बताया कि उनमें से कुछ लोगों ने गोलियां चलानी शुरू कर दीं.

उस शख्स का कहना था कि गिलानी के सामने एक आदमी को गोली लगी और वो गिर पडे़. उसके बाद हमलावरों ने गिलानी को पकड़ कार में घसीटा और वहां से भाग गए.

अयोग्य

सुप्रीम कोर्ट की तरफ से अयोग्य करार दिए जाने के कारण यूसुफ रजा गिलानी चुनाव नहीं लड़ सकते हैं. लेकिन उनके तीनों बेटे अब्दुल कदीर गिलानी, अली मूसा गिलानी और अली हैदर गिलानी चुनावी मैदान में किस्तम आजमा रहे हैं.

पाकिस्तान में शनिवार को आम चुनाव और प्रांतीय असेंबली चुनावों के लिए वोट डाले जाने हैं और गुरुवार को चुनाव प्रचार का आखिरी दिन है.

पाकिस्तान में चुनावों की घोषणा के बाद से ही हिंसक हमले बढ़ गए हैं जिसमें कम से कम 110 लोग मारे गए हैं.

संबंधित समाचार