पाकिस्तान में नई सरकार पर सरगर्मियां शुरू

  • 13 मई 2013
नवाज शरीफ
Image caption नवाज शरीफ तीसरी बार प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं

पाकिस्तान के आम चुनावों में जीत दर्ज करने के बाद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने नई सरकार के गठन को लेकर अपने सहयोगियों से बातचीत शुरू दी है.

अंतिम नतीजे आने अभी बाकी है लेकिन इतना साफ़ हो गया है कि पाकिस्तान में अगली सरकार पीएमएल(एन) नेता नवाज शरीफ के नेतृत्व में ही बनेगी.

हालांकि उन्हें सरकार बनाने के लिए कुछ सहयोगियों की जरूरत पड़ेगी. उनकी पार्टी स्पष्ट बहुमत से कुछ दूर रह सकती है. लेकिन उन्हें अपनी प्रतिद्वंद्वी पीपीपी या इमरान खान की तहरीक-ए-इंसाफ के समर्थन की जरूरत नहीं पड़ेगी.

पीएमएल(एन) के नेताओं ने कहा है कि शरीफ कुछ निर्दलीय सांसदों से बातचीत कर रहे हैं. साथ ही मंत्रिमंडल के स्वरूप पर भी बात हो रही है.

इमरान खान निराश

क्रिकेटर से रानजेता बने इमरान खान का कहना है कि वो मतदान के दौरान लोगों के बड़ी संख्या में वोट डाले जाने से खुश हैं लेकिन 'धांधली' की रिपोर्टों से निराश हैं.

चुनाव प्रचार के दौरान घायल होने वाले इमरान ने अस्पताल के बिस्तर से ही पत्रकारों से बीत की.

उन्होंने बड़ी संख्या में मतदान करने के लिए महिलाओं की खास तौर से तारीफ की. साथ ही इमरान ने चुनाव में धांधली के आरोपों पर एक श्वेत पत्र लाने की बात कही है. इमरान की पार्टी को पंजाब प्रांत में ज्यादी सीटें मिलनी की उम्मीद थी जहां चुनाव नतीजों में पीएमएल(एन) छाई हुई है.

हालांकि पीएमएल(एन) ने धांधली के आरोपों से इनकार किया है.

वहीं सत्ताधारी पाकिस्तान पीपल्स पार्टी को इन चुनावों में बड़ा नुकसान उठाना पड़ा है.

पीपीपी उन तीन धर्मनिरपेक्ष पार्टियों में से एक थी जिन्हें तालिबान ने निशाना बनाने की धमकी दी थी.

पीपीपी ने राष्ट्रीय असेंबली की जो भी सीटें जीती हैं, वो उसे अपने गढ़ सिंध में ही मिली हैं.

ओबामा और मनमोहन की बधाई

उधर अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने जीत पर नवाज शरीफ को बधाई दी है.

शनिवार को पाकिस्तान में राष्ट्रीय असेंबली और प्रांतीय असेंबलियों के लिए वोट डाले गए.

आम तौर पर चुनाव शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न हो गया लेकिन कुछ जगहों पर हिंसक घटनाएं भी देखने को मिली जिनमें कम से कम 24 लोग मारे गए.

चुनाव आयोग के प्रवक्ता का कहना है कि चुनाव में लगभग 60 फीसदी मतदान हुआ, जो पिछले चुनावों में सिर्फ 44 फीसदी था.

Image caption ओबामा ने कहा कि वो नई सरकार के साथ काम करने को लेकर उत्सुक हैं

राष्ट्रपति ओबामा ने पाकिस्तान के लोगों को सफल चुनावों के आयोजन पर बधाई दी है और कहा है कि वो नई सरकार के साथ मिल कर काम करने को लेकर उत्सुक हैं.

उन्होंने पाकिस्तान में ऐतिहासिक, शांतिपूर्ण और चुनी हुई सरकार से चुनी हुई सरकार को सत्ता मिलने का स्वागत किया लेकिन उन्होंने नवाज शरीफ का नाम नहीं लिया.

वहीं भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने पाकिस्तान के साथ दोतरफा रिश्तों में नए तौर तरीकों की आशा जताई है.

उनके ट्विटर संदेश में कहा गया है, “प्रधानमंत्री पाकिस्तान के आम चुनावों में नवाज शरीफ को उनकी जीत पर बधाई देते हैं.”

मनमोहन ने शरीफ को भारत आने का न्योता भी दिया है.

नवाज शरीफ तीसरी बार पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनने जा रहा हैं. 1999 में नवाज शरीफ का तत्कालीन सेना प्रमुख परवेज मुशर्रफ ने उनका तख्ता पलट कर देश की बागडोर संभाली थी.

(पाकिस्तान में किस तरह से जीत की कहानी आगे बढ़ी, पढ़ने के लिए क्लिक करें. पाकिस्तान चुनाव से जुड़ी सारी खबरें, विश्लेषण के लिए बीबीसी विशेष पन्ने पर जाएं)

संबंधित समाचार