रूस 'अमरीकी सीआईए एजेंट' को निकालेगा

  • 14 मई 2013
सीआईए एजेंट
Image caption फोगल को हिरासत में लिए जाने की तस्वीरें रूसी मीडिया मे आई हैं

रूस ने कहा है कि वो अमरीका के एक कूटनयिक को देश से निकाल रहा है. रूस ने आरोप लगाया है कि वो एक रूसी ख़ुफिया अधिकारी को कथित तौर पर जासूस बनाना चाहते थे.

इस कूटनयिक का नाम सीआईए एजेंट रयान फोगल बताया गया है. उन्हें रात को हिरासत में भी लिया गया हालांकि बाद में छोड़ दिया गया.

रूसी विदेशी मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक उन्हें परसोना नॉन ग्राटा घोषित कर दिया गया है और रूस में अमरीका के राजदूत माइकल मैकफॉल को भी तलब किया गया है.

रिपोर्टों के मुताबिक अमरीकी कूटनयिक को कथित तौर पर काफी़ पैसों और तकनीकी उपकरणों के साथ पकड़ा गया. साथ ही ये भी कहा जा रहा है कि उनके पास कथित तौर पर उस रूसी एजेंट के लिए कुछ लिखित निर्देश थे जिन्हें वो जासूस बनाना चाहते थे.

रिश्तों पर असर

रूस के सरकारी टीवी पर एक कागज़ दिखाया गया है और कहा गया है अमरीकी कूटनयिक ने ये चिट्ठी रूसी अधिकारी को लिखी थी.

चिट्ठी में सहयोग के बदले एक लाख डॉलर की पेशकश की गई है और लिखने वाले ने ख़ुद को प्यारा दोस्त बताया है.

मॉस्को में बीबीसी के संवाददाता स्टीव रोजनबर्ग के मुताबिक सीरिया मुद्दे को लेकर अमरीका और रूस के रिश्ते इस समय नाजुक दौर से गुजर रहे हैं. लेकिन इस घटना से दोनों देशों के राजनयिक संबंधों में कोई दीर्घकालिक प्रभाव पड़ने की संभावना नहीं हैं.

मॉस्को में बीबीसी के संवाददाता स्टीव रोजनबर्ग के मुताबिक सीरिया मुद्दे को लेकर अमरीका और रूस के रिश्ते इस समय नाजुक दौर से गुजर रहे हैं. लेकिन इस घटना से दोनों देशों के राजनयिक संबंधों में कोई दीर्घकालिक प्रभाव पड़ने की संभावना नहीं हैं.

अमरीका और रूस ने हाल ही में बॉस्टन धमाकों के बाद सुरक्षा सहयोग को बढ़ाने की इच्छा जाहिर की थी.

(बीबीसी हिन्दी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और क्लिक करें ट्विटर पर भी फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार