ओकलाहोमा : देखिए तूफान से पहले और बाद का मंज़र

सोमवार को अमरीका के ओकलाहोमा में आए चक्रवाती तूफान में करीब 24 लोग मारे जा चुके हैं और राहतकर्मियों का कहना है कि उन्होंने अब लोगों की खोजबीन भी बंद कर दी है.

अग्निशमन दल के प्रमुख गैरी बर्ड के अनुसार उन्हें 98 फीसदी तक यकीन है कि अब मलबे में न ही कोई जीवित बचा है और न शव बाकी हैं. 320 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से आया ये चक्रवाती तूफान अपने साथ 24 में से नौ बच्चों की भी जिंदगी ले गया.

समुद्री तूफान तबाही मचाता हुआ ओकलाहोमा शहर को अपने लपटे में लेकर निकल गया. राज्य की गवर्नर मेरी फेलिन का कहना था कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है क्योंकि कुछ शवों को शायद अंतिम संस्कार के लिए सीधा ले जाया गया हो. इससे पहले मरने वालो की संख्या 51 बताई गई थी लेकिन बाद में इसमें संशोधन किया गया. मेडिकल परीक्षक का कहना था कि कुछ पीड़ितों को असमंजस के कारण दोबारा गिन लिया होगा.

एक स्थानीय अग्नि शमन अधिकारी के अनुसार सोमवार से घटनास्थल से कोई जीवित या मुर्दा व्यक्ति नहीं मिला है. उन्होंने जानकारी देते हुए कहा कि उनका मकसद लोगों की खोजबीन करने के तीन अभियान चलाना था ताकि लोगों के बारे में सुनिश्चित हुआ जा सके. ये काम शाम तक खत्म हो जाना था लेकिन तेज़ बारिश ने इस काम में अड़चन डाली.

मौसम की जानकारी देने वाले नेशनल वेदर सर्विस (एनडब्लयूएस) ने टोरनेडो के खतरे को ईएफ-5 स्तर तक बढ़ा दिया है. चक्रवात की तीव्रता मापने के लिए फ्यूजिटा स्केल का इस्तेमाल किया जाता है और इस स्केल पर इसे सबसे तीव्र बताया गया है. वे इस तूफान की शक्ति बताने के लिए इसे 'असाधारण' बताते हैं.

एनडब्लयूएस के अनुसार इस तूफान का रास्ता साढ़े सत्ताईस किलोमीटर का था और इसकी चौड़ाई करीब दो किलोमीटर से अधिक थी. इस चक्रवाती तूफान ने तबाही का सिलसिला 45 मिनट तक जारी रखा और करीब 55,000 लोगों को अपने चपेट में ले लिया. राहतकर्मियों ने 100 से ज्यादा लोगों को मलबे से निकाला वहीं 237 लोग इस घटना में घायल हुए. राष्ट्रपति बराक ओबामा ने ओकलाहोमा में आए चक्रवाती तूफ़ान को एक बड़ी त्रासदी बताया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

;