अमरीका: अज्ञात बंदूक़धारी की गोलीबारी में पांच की मौत

सैंटा मोनिका
Image caption पुलिस ने बंदूकधारी को घटनास्थल पर ही मार दिया

अमरीकी राज्य कैलिफ़ोर्निया में पुलिस का कहना है कि लॉस एंजिलिस के पश्चिम में सैंटा मोनिका में एक बंदूक़धारी ने अँधाधुंध गोलियां चलाकर पांच लोगों की हत्या कर दी है और कई लोगों को घायल कर दिया है. यह वारदात एक कॉलेज के पास हुई है.

पुलिस ने पहले छह लोगों के मारे जाने की बात की थी लेकिन बाद में उन्होंने अपने आंकड़ों को बदलते हुए अब पांच लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है.

पुलिक का कहना है कि यह उपद्रव एक घर से शुरू होकर कॉलेज कैंपस में ख़त्म हुआ जहां पुलिस ने बंदूक़धारी को मार गिराया.

पुलिस के अनुसार सबसे पहले हमलावर ने एक घर में दो लोगों को मार दिया और सैंट मोनिका कॉलेज की ओर बढ़ते हुए सड़क पर उन्होंने दो अन्य लोगों को गोली मार दी.

पुलिस का कहना है कि हमलावर ने कॉलेज कैंपस में प्रवेश करने से पहले नज़दीक की एक सड़क की ओर जाते हुए वहां से गुज़र रहे वाहनों पर गोलियां दाग़नी शुरू कर दी.

उसके बाद हमलावर कॉलेज कैंपस में दाख़िल हुआ और वहां भी उन्होंने दो लोगों पर गोली दाग़ दी जिससे उनकी मौत हो गई.

बंदूकधारी की उम्र 25-30 साल के बीच बताई जा रही है और उन्होंने एक बुलेटप्रुफ़ जैकट पहना हुआ था. बंदूक़धारी के पास कई बंदूकें थीं.

एक प्रत्यक्षदर्शियों का कहना है कि शुक्रवार की दोपहर यह हिंसात्मक कार्रवाई उस वक़्त शुरू हुई जब काले रंग की पोशाक पहने हथियारों से लैस एक व्यक्ति ने एक घर पर गोली चलानी शुरू कर दी.

Image caption सैंटा मोनिका कॉलेज में 34,000 छात्र पढ़ते हैं. घटना के वक्त कॉलेज बंद था.

बाद में उस घर में आग लग गई लेकिन यह स्पष्ट नहीं हो पाया है कि आग कैसे लगी.

समाचार एजेंसी एपी ने घटना स्थल के पास में रहने वाली एक प्रत्यक्षदर्शी के हवाले से लिखा है कि उन्होंने अपने बरामदे से गोलीबारी देखी.

बंदूक़धारी ने कॉलेज की लाइब्रेरी की ओर जाते हुए एक महिला पर गोली चला दी जहां छात्र पढ़ाई कर रहे थे.

प्रशासनिक सहायक टेरेना जॉनसन ने एपी को बताया, “हमने देखा कि एक महिला के सिर में गोली लगी.”

दूसरा बंदूकधारी?

पुलिस प्रमुख जैक्लिन सीब्रुक्स का कहना है कि बंदूक़धारी ने कॉलेज की लाइब्रेरी में प्रवेश करते ही गोली चलाना शुरू कर दिया लेकिन इससे कोई हताहत नहीं हुआ.

वह कहती हैं, “पुलिस वहां आई और संदिग्ध व्यक्ति को पकड़ने की कोशिश की लेकिन घटनास्थल पर गोली लगने की वजह से उनकी मौत हो गई.”

पुलिस ने काले रंग की पोशाक पहने एक दूसरे व्यक्ति को हिरासत में ले लिया जिनकी शर्ट के पिछले हिस्से में लिखा था, “लाइफ इज़ ए गैंबल”.

Image caption बंदूकधारी ने कॉलेज की लाइब्रेरी में घुसकर भी गोलीबारी की

सीब्रुक्स का कहना है, “हम 100 फीसदी दावे के साथ नहीं कह सकते कि मारे गए संदिग्ध व्यक्ति के साथ कोई और भी था या वह अकेले ही इस घटना को अंजाम दे रहे थे.”

इस वारदात का शिकार बनी तीन महिलाओं को रोनाल्ड रीगन यूसीएलए मेडिकल सेंटर में ले जाया गया जहां डॉक्टर ने कहा कि एक मरीज़ की मौत हो गई जबकि एक का ऑपरेशन हो रहा है वहीं तीसरी महिला की हालत गंभीर है.

तीन अन्य घायलों को भी इलाज के लिए यूसीएलए मेडिकल सेंटर सैंटा मोनिका ले जाया गया.

घटनास्थल से कुछ ही दूरी पर अमरीका के राष्ट्रपति बराक ओबामा एक कार्यक्रम में हिस्सा लेने पहुंचे थे. हालांकि इस घटना का राष्ट्रपति के कार्यक्रम से कोई ताल्लुक नहीं हैं.

अमरीकी राष्ट्रपति की सुरक्षा में लगी सीक्रेट सर्विस का कहना है कि इस घटना से राष्ट्रपति के कार्यक्रम में कोई तब्दीली नहीं की गई.

फ़िलहाल हत्यारे का नाम या हत्याओ के पीछे उसका मक़सद सामने नहीं आया है.

अमरीका में बंदूक़धारियों के ज़रिए गोलीबारी की घटना कोई नई बात नहीं है. वहां अक्सर ये होता है कि कोई बंदूक़धारी किसी स्कूल, कॉलेज या बाज़ार में अचानक गोलीबारी कर देता है और कई लोग मारे जाते हैं.

इसको देखते हुए अमरीका के साउथ डकोटा में तो एक ऐसा क़ानून पारित किया गया है जिसके तहत अध्यापकों को हथियार रखने की अनुमति होगी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार