होटल से गायब हुए एडवर्ड स्नोडेन

  • 11 जून 2013
एडवर्ड स्नोडेन
Image caption एडवर्ड स्नोडेन अमरीकी खुफिया एजेंसी सीआईए के तकनीकी सहायक रह चुके हैं

अमरीका में टेलीफ़ोन और इंटरनेट पर निगरानी रखे जाने के कार्यक्रम की जानकारी एक ब्रितानी अख़बार को देने वाले एडवर्ड स्नोडेन हॉन्ग कॉन्ग के अपने होटल से गायब हो गए हैं.

अमरीकी खु़फ़िया एजेंसी सीआईए के पूर्व तकनीकी सहायक स्नोडेन ने मंगलवार को होटल से चेक आउट किया. वहाँ से वह कहाँ गए, यह अभी पता नहीं चल पाया है लेकिन माना जा रहा है कि वे हॉन्ग कॉन्ग में ही कहीं हैं.

अभी हाल में ही उन्होंने कहा था कि लोगों को उत्पीड़न से मुक्त कराना उनका दायित्व है.

ब्रितानी अखबार गार्डियन ने पिछले हफ़्ते एक खबर प्रकाशित की थी कि अमेरिकी सुरक्षा एजेंसियां लाखों लोगों के टेलीफ़ोन काल्स के रिकॉर्ड और इंटरनेट डाटा एकत्र कर रही हैं.

आपराधिक मामला

अमरीका के राष्ट्रीय खुफिया निदेशक के कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि इस मामले को एक आपराधिक मामले के रूप में न्याय विभाग को भेज दिया गया है.

इस बीच अमरीकी राष्ट्रपति के कार्यालय व्हाइट हाउस की वेबसाइट पर डाली गई एक ऑनलाइन याचिका में स्नोडेन के लिए तत्काल माफी की मांग की गई है. इस याचिका पर अब तक 30 हज़ार लोगों ने दस्तख़त किए हैं.

ब्रितानी अख़बार गार्डियन ने एडवर्ड स्नोडेन की ख़बर के स्रोत के रूप में पहचान उन्हीं के अनुरोध पर ज़ाहिर की थी.

हॉन्ग कॉन्ग के रेडियो और टीवी चैनल आरटीएचके ने ख़बर दी है कि स्नोडेन सोमवार को होटल मीरा से चेक आउट कर गए हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने होटल के कर्मचारियों के हवाले से ख़बर दी है कि स्नोडेन दोपहर में होटल से गए.

गार्डियन के पत्रकार इवन मैक्सकिल ने बीबीसी से बातचीत में विश्वास जताया कि स्नोडेन अब भी हॉन्ग कॉन्ग में ही हैं.

प्रत्यर्पण की संभावना

Image caption हॉन्ग कॉन्ग और अमरीका के बीच प्रत्यर्पण संधि है

हॉन्ग कॉन्ग चीन का इलाक़ा है, उसकी अमरीका के साथ प्रत्यर्पण संधि है. विश्लेषकों का कहना है कि प्रत्यर्पण संधि के बाद भी स्नोडेन को अमरीका ले जाने में महीनों लग सकते हैं. उनका कहना है कि प्रत्यर्पण को चीन रोक भी सकता है.

माना जा रहा है कि एडवर्ड स्नोडेन 20 मई को हॉन्ग कॉन्ग पहुंचे थे. वहाँ अमरीकी नागरिकों को आने पर वीजा दिया जाता है, जो तीन महीने के लिए वैध होता है.

स्नोडेन की ओर से दी गई जानकारी से अटलांटिक पार की राजनीति में विवाद पैदा हो गया था. इसमें आरोप लगाया गया था कि ब्रितानी इलेक्ट्रॉनिक एजेंसी जीसीएचक्यू ने ब्रितानी नागरिकों पर नजर रखने के लिए अमरीकी तंत्र का उपयोग किया.

इस विवाद की वजह से ब्रितानी विदेश मंत्री विलियम हेग ने अपनी अमरीकी यात्रा स्थगित कर संसद में सोमवार को बयान दिया और आरोपों से इनकार किया.

गार्डियन अख़बार के मुताबिक़ 29 वर्षीय एडवर्ड स्नोडेन सीआईए के पूर्व तकनीकी सहायक हैं. अभी वे अमरीका के राष्ट्रीय सुरक्षा विभाग (एनएसए) के लिए काम करने वाले ठेकेदार बूज़ एलेन हैमिल्टन के कर्मचारी हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहाँ क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार