क्या हुआ था दुर्घटनाग्रस्त विमान की लैंडिंग के समय?

अमरीका में हवाई यातायात सुरक्षा विभाग के अधिकारी दक्षिण कोरियाई विमान के सैन फ्रांसिस्को हवाई अड्डे पर उतरते समय दुर्घटनाग्रस्त होने की घटना की जांच कर रहे हैं.

इन अधिकारियों का कहना है कि शनिवार को सोल से आ रहा आसियाना एयरलाइंस का विमान जब रनवे के नज़दीक था तो इसकी रफ्तार बेहद कम थी.

अमरीका की नेशनल ट्रांसपोर्टेशन सेफ़्टी बोर्ड (एनटीएसबी) प्रमुख ने कहा कि चालक ने बोइंग 777 विमान के जमीन पर लैंडिंग से 1.5 सेकेंड पहले उसे ऊपर उठाने की कोशिश की थी.

विमान में 307 लोग सवार थे और ये रनवे पर आने से पहले ही जमीन से टकरा गया. इस हादसे में दो लोगों की मौत हो गई और कई लोग घायल हो गए.

विमान में आग लगने से पहले ही यात्री और चालक दल के सदस्य आपातकालीन व्यवस्था से बाहर निकल गए थे.

आपातकालीन वाहन

आसियाना एयरलाइंस ने इस हादसे में चीन की दो किशोरियों की मौत की पुष्टि की है जो विमान की पिछली सीटों पर बैठी थीं.

माना जा रहा है कि ये पहला मौका है जब बोइंग 777 विमान हादसे में किसी की जान गई है.

सैन फ्रांसिस्को पुलिस इस बात की जांच कर रही है कि क्या एक किशोरी की मौत दुर्घटनास्थल की तरफ जा रहे आपातकालीन वाहन की चपेट में आने से हुई है.

एनटीएसबी की प्रमुख देबोराह हर्समैन ने कहा कि विमान जब रनवे की तरफ आ रहा था तो उसकी रफ्तार अपेक्षित 137 समुद्री मील प्रति घंटे यानी 254 किलोमीटर प्रति घंटे से कम थी.

उन्होंने कहा कि कॉकपिट वॉइस रिकॉर्डर और फ्लाइट डेटा रिकॉर्डर से मिली जानकारी के मुताबिक़ विमान को रफ्तार बढ़ाने को कहा गया था.

हर्समैन ने कहा कि चालक ने विमान को उतारने के बजाए चक्कर काटने का अनुरोध किया था. उन्होंने कहा, “हमें एक बार फिर डेटा को देखना पड़ेगा और फिर से रडार और हवाई यातायात विभाग से मिली जानकारी के साथ मिलाना होगा तभी हम विमान की असल रफ्तार का पता लगा पाएंगे.”

जल्दबाजी

दु्र्घटना का कारण पूछने पर उन्होंने कहा कि अभी किसी भी नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगी.

इससे पहले दक्षिण कोरियाई एयरलाइंस के प्रमुख यून यंग दू ने कहा था कि वह मानवीय भूल की संभावना से इनकार नहीं कर रहे हैं लेकिन उन्होंने साथ ही कहा कि विमान के चालक बेहद अनुभवी थे.

दो इंजन वाले बोइंग 777 का सेफ्टी रिकॉर्ड बहुत अच्छा है और दुनिया की कई प्रमुख एयरलाइनें इसका इस्तेमाल कर रही हैं. इससे पहले इस विमान के दुर्घटनाग्रस्त होने का एक ही मामला सामने आया था जब 2008 में लंदन के हीथ्रो एयरपोर्ट पर एक बोइंग 777 रनवे से पहले ही जमीन पर टकरा गया था.

सैन फ्रांसिस्को में हुए हादसे में पांच लोगों की हालत गंभीर है. क़रीब 15 लोग अब भी बेहोश हैं. कुल 181 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें से अधिकतर को मामूली चोटें आई थीं.

आसियाना के मुताबिक़ विमान में 291 यात्री और चालक दल के 16 सदस्य शामिल थे. इनमें 141 चीन के, 77 दक्षिण कोरिया के और 61 अमरीका के नागरिक थे.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार