इंडोनेशिया में डेढ़ सौ क़ैदी जेल तोड़कर भागे

इंडोनेशिया
Image caption इस जेल में पहले ही से क्षमता से अधिक कैदियों को रखने की शिकायत रही है.

इंडोनेशिया के सुमात्रा द्वीप के मेदान शहर की एक जेल से करीब 150 क़ैदी जेल तोड़कर भाग गए हैं.

अधिकारियों के अनुसार यह घटना उस वक्त घटी जब बिजली कटौती के कारण पानी की सुविधा बंद हो जाने से जेल में दंगा भड़क गया. दंगों में पाँच लोगों की मौत की भी ख़बर है.

सैकड़ों की संख्या में पुलिसकर्मी और सैनिक जेल की व्यवस्था बहाल करने और भागे हुए कैदियों की गिरफ्तारी के लिए आस-पास के इलाके की घेराबंदी में लगे हुए हैं.

भागे हुए कैदियों में कुछ आतंकवादियों के भी शामिल होने की आशंका है.

हिंसा

उत्तरी सुमात्रा के पुलिस प्रवक्ता हेरू प्रकोसो ने एएफ़पी न्यूज़ एजेंसी को बताया, “कैदी जेल में अक्सर होने वाली बिजली कटौती से चिढ़े हुए थे. जेल अधिकारियों ने बताया कि कैदियों ने जेल में आग लगा दी थी.”

ख़बरों के अनुसार कुछ कैदियों ने जेल रक्षकों की बंदूकें छीन लीं और उन्हें बोतलें फेंककर मारा. पुलिस के अनुसार कैदियों ने 15 जेल अधिकारियों को बंधक भी बना लिया था.

तानजुंग गुस्ता जेल में पहले से ही क्षमता से अधिक कैदी होने की समस्या रही है. इस जेल की आधिकारिक क्षमता 400 कैदियों की रखने की है जबकि एक अनुमान के मुताबिक इस समय इसमें 2,400 कैदी रह रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकतें हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार