हज यात्रा के दौरान मास्क पहनने की हिदायत

हज
Image caption हर साल लाखों मुसलमान सऊदी अरब के मक्का की यात्रा पर जाते हैं

सऊदी अरब के स्वास्थ्य अधिकारियों ने मक्का-मदीना आने वाले हज यात्रियों से कहा है कि वे मास्क पहनकर वहां जाएं.

उन्होंने कोरोना वायरस फैलने के ख़तरा को देखते हुए ये अपील जारी की है. सऊदी अरब में इस वायरस से 38 लोगों की मौत हो चुकी है.

विश्व स्वास्थ्य संगठन के बयान के मुताबिक कोरोना वायरस एक इंसान से दूसरे इंसान में फैलने वाला वायरस है. इस वायरस से सांस संबंधी संक्रमण फैलता है.

सऊदी स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी कहा है कि बुज़ुर्गों और लंबे समय से किसी बीमारी से ग्रस्त लोगों को इस तीर्थ स्थल पर आने की अपनी योजना टाल देनी चाहिए.

उम्मीद है कि दुनिया भर के लाखों मुसलमान अक्टूबर में हज यात्रा करेंगे.

क्या होता है कोरोना वायरस

खतरनाक वायरस

Image caption सऊदी अरब में इस वायरस से 38 लोगों की मौत हो चुकी है.

हर साल मुस्लिम श्रद्धालु सऊदी अरब में मक्का की यात्रा पर जाते हैं और पवित्र स्थल काबा के सामने एक साथ नमाज़ अदा करते हैं. मुसलमान मदीना में मस्जिदे-नबवी भी जाते हैं.

स्वास्थ्य अधिकारियों ने हज यात्रा पर आने वाले लोगों से आग्रह किया है कि वे निजी तौर पर साफ़-सफ़ाई का ख्याल रखें और छींकते या खांसते वक्त टिशू पेपर का इस्तेमाल करें. उनका यह भी सुझाव है कि तीर्थयात्रियों को ज़रूरी टीके भी लगवा लेने चाहिए.

पिछले साल सितंबर में अरब प्रायद्वीप में एमईआरएस (मिडिल इस्ट रेस्पिरेटॉरी सिंड्रोम) कोरोना वायरस फैला था जो उस बड़े वायरस परिवार का हिस्सा है जिसमें आम सर्दी-ज़ुकाम और सार्स जैसे वायरस भी शामिल हैं.

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अब तक दुनिया भर में इस संक्रमण के कुल 80 मामलों की पुष्टि की है जिनमें इससे 44 लोगों की मौत भी शामिल है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार