मिस्र: अंतरिम मंत्रिमंडल का शपथ ग्रहण

मिस्र में नई अंतरिम सरकार के मंत्रिमंडल ने शपथ ले ली है.

मोहम्मद मुर्सी को अपदस्थ करने वाले सेना प्रमुख जनरल अब्देल फतह अल-सीसी ने उप प्रधानमंत्री के साथ ही रक्षा मंत्री का पद संभाला है.

अंतरिम राष्ट्रपति अदली मंसूर के नेतृत्व में हाज़ेम अल-बेब्लावी ने देश के नए प्रधानमंत्री का पद संभाला.

शपथ ग्रहण समारोह से एक दिन पहले सुरक्षा बलों और मुर्सी समर्थकों के बीच हिंसक संघर्ष हुआ था, जिसमें सात लोग मारे गए थे.

पढ़ें: लोकतंत्र से तख़्तापलट तक

'अवैध' सरकार

मुर्सी की पार्टी मुस्लिम ब्रदरहुड के एक प्रवक्ता ने इस अंतरिम सरकार को 'अवैध' कहा है.

मोहम्मद मुर्सी को तीन जुलाई सेना ने अपदस्थ कर दिया था.

सेना का कहना है कि उसने मुर्सी के खिलाफ़ जारी जन प्रदर्शनों के बाद जनता की मांगों को पूरा किया है.

अंतरिम सरकार के शपथ ग्रहण समारोह को सरकारी टेलीविजन पर प्रसारित किया गया.

जनरल सीसी के पास पहले से ही रक्षा मंत्रालय था, लेकिन अब वह अंतरिम उप प्रधानमंत्री भी बन गए है.

मुर्सी की सरकार में देश के गृह मंत्री रहे मोहम्मद इब्राहिम को पद पर बने रहने दिया गया है.

अंतरिम सरकार में नाबिल फाहमी को विदेश मंत्री और शरीफ इस्माइल को अंतरिम तेल मंत्री बनाया गया हैं. ईसाई धर्म को मानने वाले मुनीर फकरे अब्दुल नूर को अंतरिम व्यापार और उद्योग मंत्री का पद सौंपा गया है.

तीन महिला मंत्री

मंत्रिमंडल में तीन महिलाओं को भी शामिल किया गया है. महा अल-रबात को स्वास्थ्य मंत्रालय सौंपा गया है.

नई सरकार में इस्लामी पार्टियों के किसी नेता को शामिल नहीं किया गया है. ब्रदरहुड पहले ही इस सरकार में शामिल होने से इनकार कर चुकी है.

ब्रदरहुड के प्रवक्ता गेहाद अल-हद्दाद ने रायटर्स समाचार एजेंसी को बताया, "यह एक अवैध सरकार है, प्रधानमंत्री अवैध, मंत्रिमंडल अवैध, हम इस सरकार को स्वीकार नहीं करते."

हिंसक संघर्ष

इससे पहले, मिस्र की राजधानी काहिरा में सोमवार रात से सुरक्षा बलों और अपदस्थ राष्ट्रपति मोहम्मद मुर्सी के समर्थकों के बीच जारी संघर्ष में सात लोगों की मौत हो गई है.

काहिरा के एक मुख्य मार्ग को बाधित कर रहे प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने आंसू गैस छोड़ी. कुछ प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पथराव भी किया.

मुर्सी को सत्ता से बेदख़ल किए जाने के बाद से उनके समर्थक उनकी बहाली की मांग कर रहे हैं.

सरकारी मीडिया ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी खालिद अल-ख़तीब के हवाले से बताया है कि मंगलवार सुबह तक चले संघर्ष में 261 लोग घायल हुए हैं. ख़तीब के अनुसार 124 लोग अब भी अस्पताल में हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार