'स्पेन ट्रेन हादसे में ड्राइवर ज़िम्मेदार'

स्पेन में हुए रेल हादसे के लिए ट्रेन के ड्राइवर को उनकी असावधानी के लिए ज़िम्मेदार बताया गया है. वहां के गृह मंत्री का कहना है कि ट्रेन ड्राइवर पर 'लापरवाही की वजह से मानवहत्या' के आरोप लगाए गए है.

स्पेन में हुए रेल हादसे में एक रेल पटरी से उतर गई थी, जिससे कम से कम 78 लोग मारे गए थे और कई घायल हो गए थे.

गृह मंत्री जॉर्ज फर्नांडीज़ डियाज़ का कहना था कि ट्रेन ड्राइवर फ़्रांसिस्को जोस गारज़ॉन अमो भी बुधवार की दुर्घटना में घायल हुए थे और उन्हें पुलिस स्टेशन ले जाया गया था.

डियाज़ का कहना है, "उन्हें लापरवाही की वजह से मानवहत्या के कथित आरोप में हिरासत में लिया गया है. वह इस घटना के जिम्मेदार हो सकते हैं."

उनका कहना था, "जो हादसा हुआ उसके लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराने के लिए पर्याप्त आधार मौज़ूद हैं जिसकी पुष्टि जांच के बाद ज़रूर हो जाएगी."

गारज़ॉन पर यह आशंका जताई जा रही है कि वह ट्रेन काफ़ी तेज़ रफ़्तार से चला रहे थे.

रिपोर्ट में कहा गया कि हादसे के वक्त ट्रेन अपनी रफ़्तार की सीमा से दोगुने से ज़्यादा रफ़्तार पर चल रही थी.

हालांकि उन्होंने सवालों का कोई जवाब देने से इनकार कर दिया है.

इस हादसे के बाद कम से कम 130 लोगों को अस्पताल ले जाया गया. यह हादसा स्पेन के उत्तर पश्चिमी शहर सैंटियागो डे कॉम्पोस्टेला शहर के नज़दीक हुआ.

Image caption ट्रेन ड्राइवर फ़्रासिस्को जोस गारज़ॉन अमो भी इस दुर्घटना में घायल हो गए थे

दुर्घटना में घायल होने वाले लोगों का ताल्लुक विभिन्न देशों से है. इनमें पांच अमरीकी और एक ब्रितानी नागरिक भी शामिल हैं. एक अमरीकी नागरिक की मौत हो चुकी है.

अनुभव

सरकारी रेल ऑपरेटर कंपनी रेनफे का कहना कि यह ट्रेन बुधवार को सैंटियागो डे कॉम्पोस्टेला से तीन या चार किलोमीटर की दूरी पर ही पटरी से उतर गई.

ट्रेन एक्सप्रेस मार्ग पर राजधानी मैड्रिड और फेरोल के बीच चल रही थी. इसमें 218 यात्री सवार थे. ट्रेन की डाटा रिकॉर्डिंग करने वाला 'ब्लैक बॉक्स' हादसे की जांच कर रहे प्रमुख न्यायाधीश के पास है.

अभी तक यह साफ़ नहीं हो पाया है कि किसी अन्य व्यक्ति को भी इस जांच के दायरे में लाया जाएगा या नहीं.

रेनफे़ के अध्यक्ष जूलियो गोमेज़ पोमर ने अल मुंडो अख़बार को बताया है कि 52 साल के इस ड्राइवर को कंपनी के साथ काम करने का 30 साल का अनुभव है और वह उस रेल मार्ग पर एक साल से ज़्यादा वक्त से ट्रेन चला रहे थे.

हालांकि पोमर ने यह भी कहा कि ट्रेन में कोई तकनीकी समस्या नहीं थी.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार