स्नोडन को पिता से मिलवाना चाहती है एफ़बीआई

Image caption अमरीका के निगरानी कार्यक्रम के विरोधियों ने बर्लिन में एडवर्ड स्नोडन के पक्ष में प्रदर्शन किया

अमरीकी ख़ुफ़िया एजेंसी के फ़रार कर्मचारी एडवर्ड स्नोडन के पिता का कहना है कि संघीय जांच एजेंसी एफ़बीआई ने उन्हें अपने बेटे से मिलने के लिए मॉस्को जाने को कहा है लेकिन अभी उन्हें विस्तृत जानकारी का इंतज़ार है.

अमरीका के इलेक्ट्रानिक निगरानी कार्यक्रम की जानकारी सार्वजनिक करने वाले एडवर्ड स्नोडन को अमरीकी प्रशासन वापिस लाने के लिए प्रयासरत हैं.

रूस के सरकारी टेलीविज़न से बातचीत में लोनी स्नोडन ने कहा है कि उन्हें एडवर्ड के बारे में कई हफ़्ते पहले कहा गया था लेकिन वो एफ़बीआई के वास्तविक इरादे जानना चाहते हैं.

लोनी का कहना है कि अमरीका में उनके बेटे को निष्पक्ष तरीक़े से न्याय मिलने की उम्मीद कम है और अगर स्नोडन की जगह वे होते तो रूस में ही टिके रहते.

अपने बेटे को सच्चा देशभक्त बताते हुए स्नोडन के पिता ने कहा अमरीका के राष्ट्रीय निगरानी कार्यक्रम की जानकारी देकर उसने अमरीकी जनतंत्र को मज़बूती प्रदान की है.

स्नोडन पिछले एक महीने से भी ज़्यादा समय से मॉस्को हवाई अड्डे के ट्राज़िंट क्षेत्र में रह रहे हैं क्योंकि उनके पास यात्रा के लिए ज़रूरी काग़ज़ात नहीं हैं.

बेटे पर गौरवान्वित

रूसी टीवी पर सीधे प्रसारित किए गए इस इंटरव्यू में लोनी ने अपने बेटे को संबोधित करते हुए कहा ''एडवर्ड उम्मीद है तुम ये देख रहे हो. तुम्हारा परिवार ठीक है. हम सभी को तुमसे प्यार है.''

''हमें उम्मीद है कि तुम सेहतमंद हो. तुम्हे बहुत जल्दी देखने की कामना करता हूं लेकिन सबसे ज़्यादा ये चाहता हूं कि तुम सुरक्षित रहो. तुम्हे एक सुरक्षित जगह मिले.''

लोनी स्नोडन ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन का भी धन्यवाद देते हुए कहा ''रूसी सरकार और राष्ट्रपति पुतिन ने मेरे बेटे को सुरक्षा देने की जो हिम्मत और ताक़त दिखाई है उसके लिए मैं उनको धन्यवाद देना चाहता हूं.''

उन्होने कहा कि ''किसी भी अन्य माता-पिता की तरह जो अपने बच्चों से प्यार करते हैं,मैं भी अपने बेटे से प्यार करता हूं. तुमने जो भी किया है उसके लिए मैं हमेशा तुम्हारा कृतज्ञ रहूंगा.''

स्नोडन 23 जून को मॉस्को हवाओई अड्डे पहुंचे थे जहां उन्होने अपने पास उपलब्ध जानकारी सार्वजनिक की थी.उन्होने रूस से ये कहते हुए अस्थायी शरण की मांग की कि वे अततः लैटिन अमरीका जाना चाहते हैं.

स्नोडन ने अमरीकी निगरानी कार्यक्रम की सूचना देकर अमरीका के परंपरागत साथियों और शत्रुओं के लिहाज से कूटनीतिक संकट पैदा कर दिया.

अमरीकी अटॉर्नी जनरल ने आश्वासन दिया है कि अगर रूस स्नोडन को प्रत्यर्पित करता है तो उसे मौत की सज़ा नहीं दी जाएगी लेकिन रूस ने उसे सौंपने की कोई इच्छा ज़ाहिर नहीं की है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार