भारत कर रहा है युद्धविराम का उल्लंघन: पाक

  • 12 अगस्त 2013
नियंत्रण रेखा, पाकिस्तानी सैनिक
Image caption पाकिस्तान ने भारत पर युद्धविराम का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है

पाकिस्तान ने आरोप लगाया है कि भारत ने युद्धविराम का उल्लंघन करते हुए सोमवार को वास्तविक नियंत्रण रेखा पर गोलीबारी की है जिसमें एक नागरिक की मौत हो गई है.

पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने सोमवार दोपहर भारत के उप उच्चायुक्त को तलब कर इस मामले पर ऐतराज़ जताया.

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार पाकिस्तानी सेना के एक अधिकारी ने आरोप लगाया कि बट्टाल चिरिकोट और सत्वाल में बीएसएफ़ ने “बेवजह गोलीबारी” की जिसमें मोहम्मद ज़ुबैर नाम के एक नागरिक की मौत हो गई.

एपी के अनुसार भारतीय सेना के एक कमांडर ने कहा है कि भारतीय जवान पाकिस्तान की भारतीय चौकियों पर बेवजह गोलीबारी का जवाब दे रहे थे.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की तरफ़ से रविवार रात को गोलीबारी शुरू हुई थी जो दोपहर तक चलती रही.

आरोप-प्रत्यारोप

भारतीय कमांडर ने पाकिस्तान पर पिछले तीन-चार दिन से लगातार युद्धविराम का उल्लंघन करने का आरोप लगाया.

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय की प्रेस रिलीज़ में कहा गया है कि पाकिस्तान ने भारत से नियंत्रण रेखा पर 2003 के युद्धविराम समझौते का पालन करने को कहा है.

Image caption भारत का कहना है कि नियंत्रण रेखा पर युद्धविराम का उल्लंघन पाकिस्तान कर रहा है

इसमें यह भी कहा गया है, “ पाकिस्तान भारत के साथ रचनात्मक, स्थायी वार्ता के लिए प्रतिबद्ध है और मानता है कि सकारात्मक माहौल बनाने के लिए गंभीर कोशिश किए जाने की ज़रूरत है. इसके साथ ही दोनों पक्षों को नकारात्मक प्रचार से बचना चाहिए.”

हाल ही में भारत प्रशासित कश्मीर के पुंछ सेक्टर में पांच भारतीय सैनिकों की हत्या कर दी गई थी

भारत ने सीधे तौर पर आरोप लगाया था कि यह हत्या पाकिस्तानी सैनिकों ने की है और भारतीय रक्षा मंत्री एके एंटनी ने इसमें शामिल लोगों पर कार्रवाई की मांग की थी.

पाकिस्तान ने भारतीय सैनिकों की हत्या में अपना हाथ होने से इनकार किया था और भारतीय सैनिकों पर आरोप लगाया था कि सीमा पर गोलीबारी से पाकिस्तानी नागरिक घायल हो गए हैं. भारत ने इन आरोपों से इनकार किया था.

पिछले हफ़्ते पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज़ शरीफ़ ने इन घटनाओं पर चिंता जताई थी और कहा था कि दोनों पक्षों को स्थिति को और ख़राब होने से रोकना चाहिए.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार