विकीलीक्स को जानकारी देने वाले मैनिंग को 35 साल की सज़ा

  • 21 अगस्त 2013
ब्रैडले मैनिंग

अमरीकी गोपनीय दस्तावेज़ वेबसाइट विकीलीक्स को सौंपने के दोषी करार अमरीकी सैनिक ब्रैडले मैनिंग को 35 साल की सज़ा सुनाई गई है.

ब्रैडले मैनिंग को 20 जुलाई को 20 आरोपों का दोषी पाया गया था, इनमें जासूसी के भी आरोप थे.

पिछले हफ्ते मैनिंग ने 'अमरीका को चोट पहुंचाने' और अपने काम के 'अप्रत्याशित नतीजों' के लिए माफ़ी मांगी थी.

हालांकि अभियोजन पक्ष ने मैनिंग को 60 साल की सज़ा देने की मांग की थी.

सैन्य अदालत ने मैनिंग को सज़ा सुनाते हुए कहा कि उन्हें अमरीकी सेना की नौकरी से 'अपमानजनक रूप से' निकाल दिया जाएगा और उनके वेतन का कुछ हिस्सा भी ज़ब्त कर लिया जाएगा.

ब्रैडले मैनिंग ने जेल में अब तक जो समय बिताया है उसके बदले उन्हें सज़ा की अवधि में छूट मिलेगी.

गिरफ्तारी के ठीक बाद मुश्किल हालात में रहने के लिए भी हर्जाने के तौर पर मैनिंग को 112 दिन की छूट मिलेगी.

Image caption ब्रैडले मैनिंग ने विकीलीक्स को हज़ारों गोपनीय दस्तावेज़ सौंप दिए थे.

सैन्य कैदी अच्छे वक़्त के लिए सज़ा में कुछ छूट पा सकते हैं लेकिन उन्हें पैरोल के लिए सज़ा का कम से कम एक तिहाई वक्त जेल में बिताना होता है.

'शुक्रिया ब्रैडले'

ब्रैडले मैनिंग को जब सज़ा सुनाई गई तब उनके चेहरे पर कोई भाव नहीं थे लेकिन वो कुछ पल के लिए बैठे और अपने हाथों को मज़बूती से पकड़ लिया इसके बाद उन्हें अदालत से ले जाया गया.

बीबीसी संवाददाता टॉम जियोगेगन के मुताबिक जैसे ही ब्रैडली मैनिंग को अदालत से ले जाया गया उनके समर्थकों ने उनके पक्ष में "हम आपका इंतज़ार करेंगे, ब्रैडले" और "शुक्रिया ब्रैडले, हम आपसे प्यार करते हैं" जैसे नारे लगाए.

ब्रैडले मैनिंग 2010 में इराक में तैनात थे और तब उन्होंने हज़ारों रिपोर्ट और राजनयिक केबल को जूलियन असांज की वेबसाइट विकीलीक्स को सौंप दिया था.

मैनिंग ने मुकदमे से पहले की सुनवाई में कहा था कि उन्होंने गोपनीय फाइलें इसलिए लीक की क्योंकि उन्हें उम्मीद थी कि इससे अमरीकी विदेश नीति और सेना के बारे में बहस छिड़ेगी.

सज़ा को लेकर सुनवाई के दौरान मैनिंग ने मैरीलैंड के फोर्ट मीड की सैन्य अदालत से कहा, "बीते तीन साल में मैंने काफ़ी कुछ सीखा है."

ब्रैडले मैनिंग की सज़ा की समीक्षा होगी और संभव है कि एक सैन्य कमांडर उनकी सज़ा घटा दे, अमरीकी सेना की आपराधिक अपील अदालत भी अपने आप ही सज़ा की समीक्षा करेगी.

इस बीच मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल और 'ब्रैडले मैनिंग सपोर्ट नेटवर्क' ने एक ऑनलाइन याचिका में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से कहा है कि वो मैनिंग को माफ़ कर दें.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार