ब्वॉयफ्रेंड का पता बतानेवाले ऐप पर मचा बवाल

स्मार्टफोन, मोबाइल ऐप

ब्राजील में लोग इस बात को लेकर नाराज हैं कि अमरीका की राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी विदेशों में जासूसी करने के नाम पर उनके देश को निशाना बना रही है.

विशेष तौर पर गोपनीय रखे गए अमरीका के इस जासूसी कार्यक्रम में अरबों की संख्या में फ़ोन और ईमेल रिकॉर्ड्स होने की बात पता चली है.

गुप चुप तरीके से इश्क लड़ाने वाले प्रेमियों को पकड़ने की जब बात आती है तो उच्च तकनीक वाले सभी हथियार बराबरी का मौका देते हैं.

हर शख्स निगरानी के दायरे में

गूगल प्ले ऐप स्टोर पर इस घातक सॉफ्टवेयर को हटा दिए जाने से पहले ब्राजील के कम से कम 10 हज़ार लोग "ब्वॉयफ्रेंड ट्रैकर" नाम का यह मोबाइल ऐप अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड कर चुके थे.

कई लोगों ने गूगल से इस मोबाइल ऐप को लेकर निजता के उल्लंघन से जुड़ी शिकायतें की थीं.

शिकायत करने वालों ने यहाँ तक कहा कि इस मोबाइल ऐप का इस्तेमाल अवैध वसूली और किसी का पीछा करने में भी किया जा सकता है.

'ब्वॉयफ्रेंड ट्रैकर'

रियो डी जेनेरियो की मर्सिया अलमैडा 47 साल की हैं. सात साल पहले उनकी शादी टूट गई थी.

एक मोबाइल जो करेगा जाँच

वह कहती हैं, "ब्राजील के लोग ईर्ष्यालु होते हैं, इस पर मैं क्या कह सकती हूँ? बेशक यह मोबाइल ऐप लोकप्रिय होने जा रहा है."

अमरीका के नैशनल सिक्योरिटी एजेंसी के जासूसी कार्यक्रम से तुलना किए जाने के मसले पर मर्सिया कहती हैं, "यह एक अलग तरह की जासूसी है. आप ऐसे आदमी पर नजर रख रहे होते हैं जिसे आप करीब से जान रहे होते हैं न कि वह कोई अजनबी होता है."

'ब्वॉयफ्रेंड ट्रैकर एक ऐसा मोबाइल ऐप है जो एक तरह से आप अपने पार्टनर की जेब में जासूसी करने के लिए रख देते हैं.

इस ऐप की खूबी है कि जासूसी कर रहा व्यक्ति अपने पार्टनर के लोकेशन से जुड़े अपडेट ले सकता है. उसे मिलने वाले मैसेज की एक डुप्लिकेट कॉपी अपने मोबाइल फोन पर मँगा सकता है.

स्तनपान के लिए आरामदेह जगह

इस मोबाइल ऐप में एक ऐसा कमांड भी है जो पार्टनर के फोन से खुद ब खुद फोन कर लेता है. इसके जरिए जासूसी कर रहा व्यक्ति अपने पार्टनर की बात सुन सकता है.

इससे मिलते जुलते मोबाइल ऐप यूरोप और अमरीका सहित अन्य देशों में स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वालों के बीच चलन में रहे हैं. लेकिन यह पहली बार है कि ब्राजील में इस तरह के किसी ऐप को लेकर विवाद हुआ है.

ब्राजील में अमरीका के जासूसी कार्यक्रम को लेकर नाराजगी का माहौल रहा है. एडवर्ड स्नोडेन के रहस्योद्घाटन के बाद ब्राजील ने अपना एक प्रतिनिधिमंडल अमरीका भी भेजा है.

गूगल की प्रवक्ता गिना जॉन्सन ने कहा है कि कंपनी की नीति है कि किसी ऐप को हटाए जाने के कारणों के बारे में वह कुछ नहीं बताती है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार