क्या रोबोट के साथ सेक्स संभव हो पाएगा?

सेक्स रोबोट रॉक्सी से मिलिए. यह आप पर निर्भर करता है कि आप उसे किस तरह लेते हैं- इंसान और रोबोट के संबंधों के बीच एक अहम कड़ी या सेक्स रोबोट के रूप में.

सेक्स के लिए बाज़ार में कई कृत्रिम साधन उपलब्ध हैं, लेकिन रॉक्सी को बनाने वाले डगलस हाइंस का कहना है कि यह कृत्रिम बुद्धिमत्ता और इंसानी रूप का संगम है.

रोबोट की परिकल्पना दशकों पुरानी है, लेकिन यह मशीनी मानव अभी अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतरा है.

चलने में सक्षम रोबोट का अभी बहुत ज्यादा व्यावसायिक उपयोग नहीं है. वे बहुत महंगे हैं और केवल समतल सतह पर ही चल सकते हैं.

कमज़ोरी

जापान की सबसे अच्छी माने जाने वाली महिला रोबोट एचआरपी-4सी का विकास नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ़ एडवांस्ड इंडस्ट्रियल साइंस एंड टेक्नोलॉजी (एआईएसटी) ने किया है.

इस रोबोट की सबसे बड़ी कमजोरी यह है कि इसकी बैटरी की क्षमता बहुत कम है और 20 मिनट ही चल सकती है.

ब्रिटेन के शतरंज खिलाड़ी और कृत्रिम बुद्धिमत्ता के विशेषज्ञ डेविड लेवी ने साल 2005 में अपनी क़िताब 'लव एंड सेक्स विद रोबोट' में लिखा था कि रोबोट के साथ सेक्स करना संभव हो जाएगा और 40 सालों में इंसान उससे प्यार करने लगेगा.

उनका यह तर्क रोबोटिक इंजीनियरिंग और कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग में हो रहे सुधारों पर आधारित था. साथ ही उन्होंने पॉर्न उद्योग से हो रही आय का भी हवाला दिया था. उनका कहना था कि ऐसे रोबोट मानव के लिए बहुत उपयोगी होंगे.

एहसास

Image caption फ्रिट्ज लांग की साइंस फ़िल्म मेट्रोपोलिस में मारिया द रोबोट.

रॉक्सी का वज़न 27 किलोग्राम और लंबाई पांच फुट सात इंच है. इसके बाल अलग-अलग रंगों में उपलब्ध हैं, त्वचा का रंग इंसानों की तरह है और वो अपने हाथ-पांवों को इंसानों की तरह मोड़ सकती है.

रॉक्सी इलेक्ट्रिक इंजीनियर और कम्प्यूटर वैज्ञानिक हाइंस के दिमाग की उपज है. उन्होंने कहा कि उनकी कंपनी ने सेक्स रोबोट हेल्थकेयर रोबोट से आगे की कड़ी है.

उन्होंने कहा कि सेक्स रोबोट को विकसित करने के पीछे उनका मकसद इस समय उपलब्ध साधनों से आगे जाकर एक साथी का अहसास देना है, हालांकि वह मानते हैं कि प्लास्टिक और धातु से बनी रॉक्सी इंसान की जगह लेने में सक्षम नहीं है.

रॉकी

उन्होंने कहा, "हम लगातार उम्मीदों के क़रीब पहुंच रहे हैं. इससे रोबोटिक और मशीनी यंत्र और इंसान की उम्मीदों के बीच अंतर लगातार कम होता जाएगा."

रॉक्सी की कीमत $9,000 है. इसका पुरुष रूप भी उपलब्ध है जिसे रॉकी नाम दिया गया है. कंपनी की योजना इस साल के अंत में रॉक्सी का और आधुनिक अवतार उतारने की है.

लेकिन सवाल यह है कि क्या ये रोबोट कभी इंसान की जगह ले पाएंगे?

इस साल की शुरुआत में हफिंगटन पोस्ट द्वारा अमरीका में कराए गए सर्वेक्षण के मुताबिक़ नौ प्रतिशत लोगों ने कहा कि वे रोबोट के साथ सेक्स करने को तैयार हैं.

संभावना

इसका मतलब है कि ढाई करोड़ से अधिक अमरीकी रोबोट के साथ सेक्स करने के इच्छुक हैं जिससे रॉक्सी की भारी बिक्री की संभावना है.

लेकिन आलोचकों का कहना है कि लोगों को रॉक्सी जैसे रोबोट को हाथों हाथ लेने से बचना चाहिए.

मैसाच्यूसेट्स प्रौद्योगिकी संस्थान में प्रोफेसर और मनोवैज्ञानिक शेरी टर्कल ने कहा, "अगर आप अपनी समस्याओं को मित्रों, परिजनों और समाज के बजाए रोबोट के माध्यम से सुलझाना चाहते हैं तो आपको इस पर पुनर्विचार करना चाहिए."

उन्होंने कहा, "हम सोच रहे हैं कि हम केवल रोबोट बना रहे हैं लेकिन वास्तव में हम मानवीय मूल्यों और संबंधों को पुनर्परिभाषित कर रहे हैं."

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार