अकेले ही सीरिया पर हमला करेगा अमरीका?

Image caption अमरीका सीरिया पर अकेले ही हमला करने को तैयार है.

सीरिया में पिछले हफ्ते हुए रासायनिक हमले के बाद अमरीका के विदेश मंत्री जॉन केरी ने स्पष्ट संकेत दिए हैं कि अमरीका सीरिया पर अकेले ही हमला करने के लिए तैयार है.

केरी ने काँग्रेस के वरिष्ठ सदस्यों से कहा है कि अमरीका दूसरों की विदेश नीति के लिए इंतज़ार नहीं करेगा.

सीरिया पर कार्रवाई के मसले पर ब्रिटेन की संसद में प्रस्ताव गिर जाने के बाद केरी ने काँग्रेस को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं.

विचार-विमर्श

ब्रीफिंग के बाद, एक वरिष्ठ डेमोक्रेट सांसद ईलियट एंजेल (विदेश मामलों की समिति सभा के प्रतिनिधि) ने कहा कि "सीरिया में 21 अगस्त को हुए रासायनिक हमले के पीछे राष्ट्रपति बशर अल-असद का हाथ है, इसे साबित करने के लिए अधिकारियों के बहुत कम सुबूत हैं.''

उनके अनुसार उन्होंने सीरिया के उच्चाधिकारियों से बात की है और ख़ुफ़िया जानकारी के मुताबिक़ सीरिया की सेना ने हथियारों और जवानों के साथ राजधानी को चारों ओर से घेर लिया है.

एंजेल के मुताबिक़ राष्ट्रपति ओबामा अपने निर्णय पर विचार विमर्श कर रहे हैं और वह काँग्रेस से लगातार सलाह लेते रहेंगे.

सीरिया पर मंडराते हमले के बादल

ब्रिटेन का रुख

Image caption ब्रिटेनवासी नहीं चाहते हैं कि ब्रिटेन सीरिया पर हमला करे

वहीं मतदान के बाद प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने कहा था कि '''अब यह स्पष्ट हो गया है कि न तो ब्रिटेन की संसद और न ही आम ब्रिटिश लोग चाहते हैं कि ब्रिटेन सीरिया पर हमला करे. ''

ब्रिटेन की संसद यह आश्वासन चाहती थी कि रसायनिक हमले को लेकर संयुक्त राष्ट्र के निरीक्षकों की रिपोर्ट आने से पहले सीरिया पर कोई कार्रवाई नहीं की जाए.

कहाँ आ पहुँचा सीरिया

इसके बाद ब्रिटेन के रक्षा मंत्री फिलिप हैमंड ने इस बात की पुष्टि की कि ब्रिटेन सीरिया पर होने वाले किसी भी संभावित हमले में शामिल नहीं होगा. निस्संदेह उनकी यह बात अमरीका के लिए परेशानी पैदा करने वाली और सीरिया के राष्ट्रपति बशर-अल-असद को राहत देने वाली है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार