16 साल की लड़की जब बनी एक दिन के लिए मंत्री

बशीर उस्मान, फलीस्तीनी

ऐसा कम ही सुना जाता है जब कोई कम उम्र में ही बड़े ओहदे पर पहुँच जाए लेकिन फ़लस्तीनी इलाक़े में छोटी उम्र की एक लड़की मंत्री बन गई.

दरअसल एक फलस्तीनी मंत्री ने 16 साल की लड़की को एक दिन के लिए मंत्री पद की जिम्मेदारी दे दी है.

फलस्तीनी दैनिक अखबार 'अल कुदुस' ने खबर दी है कि एक दिन के लिए मंत्री बनीं बशाएर ओथमन ने फलस्तीनी प्राधिकरण की सरकार में स्थानीय प्रशासन के महकमे के मुखिया की हैसियत से संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून के सामने स्थानीय मुद्दे रखे.

फलस्तीन और इसराइल के बीच

खबर में कहा गया है कि स्थानीय प्रशासन विभाग के मंत्री सईद-अल-कावनी ने बशीर ओथमन को उनके जन्मदिन के अवसर पर यह मौका दिया.

अखबार के मुताबिक ओथमन पिछले साल दो महीने के लिए अपने गृह क्षेत्र एल्लार की नगरपालिका के मेयर के तौर पर काम कर चुकी हैं और शायद इसी वजह से मंत्री ने उन्हें अपनी जिम्मेदारी सौंपी.

नौजवानों की भागीदारी

अखबार ने मंत्री सईद-अल-कावनी के हवाले से कहा, "इन अनुभवों से वे फलस्तीनी नौजवानों के लिए बेहतरीन उदाहरण और आदर्श बन गई हैं. मैं चाहता हूँ कि नौजवान सामने आकर बड़ी जिम्मेदारियाँ निभाएँ."

शांतिवार्ता से पहले अशांति

बशाएर नौजवानों के लिए एक फोरम भी चलाती हैं. उन्होंने संवाददाताओं से कहा, "फलस्तीनी राष्ट्र के निर्माण में नौजवानों की भागीदारी के लिए मैं काम करती रहूँगी."

खबरों के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र महासचिव को लिखी अपनी चिट्ठी में उन्होंने फलस्तीनी लोगों के सामने पेश आ रही मुश्किलों की बात उठाई है.

बशाएर ओथमन ने बान की मून से एक स्थानीय शरणार्थी शिविर को बंद करने के इसराइल के हालिया फैसले को वापस लेने के लिए दबाव डालने को भी कहा है.

(बीबीसी मॉनिटरिंग दुनिया भर के टीवी, रेडियो, वेब और प्रिंट माध्यमों में प्रकाशित होने वाली ख़बरों पर रिपोर्टिंग और विश्लेषण करता है. आप बीबीसी मॉनिटरिंग की खबरें ट्विटर और फेसबुक पर भी पढ़ सकते हैं.)

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार