एक बड़े चीनी अधिकारी के खिलाफ जांच का एलान

चीन में भ्रष्टाचार
Image caption जियांग जिएमिन ने अपने ऊपर लगे आरोपों पर कुछ नहीं कहा है

चीन के अधिकारियों ने कहा है कि एक बड़े अधिकारी जियांग जिएमिन के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच होगी.

जिएमिन सरकारी कंपनियों की निगरानी और प्रबंधन करने वाले आयोग के प्रमुख हैं.

निरीक्षण मंत्रालय का कहना है कि जियांग पर 'अनुशासन का गंभीर उल्लंघन' करने का संदेह है. हालांकि जेमिन ने सार्वजनिक तौर पर इस आरोप पर कोई टिप्पणी नहीं की है.

सरकारी कंपनियों में प्रबंधकों द्वारा भ्रष्टाचार करने पर इन्हीं शब्दों का इस्तेमाल होता है.

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग देश में भ्रष्टाचार ख़त्म करने के लिए प्रतिबद्ध हैं और उनकी इस चेतावनी से कम्युनिस्ट पार्टी में हड़कंप मचा है.

हाल के महीने में कई बड़े अधिकारियों के ख़िलाफ़ भ्रष्टाचार के मामले सामने आए जिनमें पार्टी के वरिष्ठ अधिकारी बो शिलाई भी हैं जिन पर अगस्त में रिश्वत, गबन और सत्ता के दुरुपयोग के आरोपों में मुक़दमा दर्ज़ हुआ.

उनके मामले में अभी फ़ैसला नहीं आया है. बो ने सभी आरोपों को सिरे से ख़ारिज किया है.

पत्रकार भी गिरफ़्तार

जियांग मार्च तक चाइना नेशनल पेट्रोलियम कॉरपोरेशन (सीएनपीसी) के प्रमुख थे जिस पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे हैं.

पिछले हफ़्ते यह घोषणा की गई थी कि सीएनपीसी के अन्य चार अधिकारी भी भ्रष्टाचार की वजह से जांच के दायरे में हैं.

अगस्त की शुरुआत में सार्वजनिक क्षेत्र की फोन कंपनी चाइना मोबाइल लिमिटेड के महाप्रबंधक को भी ग्वांगदोंग के दक्षिणी प्रांत के हवालात में बंद रखा गया था. उन पर अनुशासन का उल्लंघन करने का आरोप है.

चीन में वैसे इंटरनेट यूज़र्स भी ऐसे लोगों के बारे में सबको बता रहे हैं जिन्हें बारे में माना जाता है कि उन्होंने भ्रष्टाचार किया है.

लेकिन हाल के हफ़्ते में ऐसे संकेत मिले हैं कि सरकार इन गतिविधियों से चिंतित है और कई पत्रकारों को अफ़वाह फ़ैलाने के लिए गिरफ़्तार किया गया. इसके अलावा कई बड़े मशहूर ब्लॉगरों को भी गिरफ़्तार किया गया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें क्लिक करें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार