सीरिया हमले में सारिन का इस्तेमाल हुआ: जॉन केरी

Image caption जॉन केरी को यकीन है कि अमरीकी संसद सीरिया पर हमले के पक्ष में फैसला देगी

अमरीका के विदेश मंत्री जॉन केरी का कहना है कि अमरीका के पास इस बात के पुख्ता सुबूत हैं कि पिछले महीने दमिश्क में तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करने वाली गैस सारिन का इस्तेमाल किया गया था.

उन्होंने कहा कि इस हमले में मारे गए लोगों के खून और बाल के नमूनों से इसके पाए जाने की पुष्टि हुई है.

अमरीका सीरियाई सरकार पर शुरू से ही आरोप लगा रहा है कि उसने इन हमलों में रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया था.

इस मामले में अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने सीरिया के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात भी की है, लेकिन इसके लिए वो संसद की अनुमति लेना चाहते हैं.

सीरिया ने इन हमलों से इनकार किया है और कहा है कि वो किसी भी तरह के हमले का सामना करने को तैयार है.

इससे पहले संयुक्त राष्ट्र के पर्यवेक्षक इस बात की जांच करने के लिए दमिश्क पहुंचे थे कि वहां रासायनिक हमले हुए थे या नहीं. फिलहाल वो टीम नीदरलैंड में है जहां इकट्ठा किए गए नमूनों की जांच की जा रही है.

अरब लीग

वहीं अरब लीग ने अमरीका और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अपील की है कि वो सीरिया के खिलाफ कार्रवाई की बजाय उसे धमकाने की रणनीति अपनाएं.

काहिरा में अरब लीग के सदस्य देशों के विदेश मंत्रियों की बैठक में सीरियाई सरकार पर एक बार फिर पिछले महीने रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल का आरोप लगाया गया. अरब लीग के एक प्रवक्ता नासिफ हित्ती ने पत्रकारों को बताया कि अब कार्रवाई का समय आ गया है.

उनका कहना था कि हमने अमरीका और अंतरराष्ट्रीय समुदाय से अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत अपनी जिम्मेदारी निभाने को कहा है. हमने ये भी कहा है कि ऐसे गंभीर अपराध करने वालों के खिलाफ जरूरी कदम उठाए जाएं ताकि पिछले दो साल से हो रहे ऐसे हमलों पर विराम लग सके.

सबसे बड़ा हमला.>

Image caption सीरिया में पिछले दो साल से चल रहे गृह युद्ध में एक लाख से भी ज्यादा लोग मारे गए हैं

पूर्वी दमिश्क में गत 21 अगस्त को सबसे बड़ा और खतरनाक हमला हुआ था. अमरीकी सेना का कहना है कि इस हमले में 1400 लोगों की मौत हुई थी.

अमरीका का ये भी कहना है कि इस तरह के हमले की क्षमता सिर्फ सीरियाई सरकार में ही थी, विद्रोहियों में नहीं.

जॉन केरी का कहना है कि रासायनिक हमलों से संबंधित जो साक्ष्य मिले हैं, वो उनके स्रोतों के आधार पर मिले हैं, संयुक्त राष्ट्र के जांचकर्ताओं के नहीं.

केरी का ये भी कहना था कि उन्हें यकीन है कि अमरीकी संसद सीरिया पर कार्रवाई की अनुमति दे देगा. नौ सितंबर को इस मामले पर अमरीकी संसद की दोबारा बैठक है.

इस बीच, सीरिया के उप विदेश मंत्री फैसल मेकडैड ने बीबीसी को बताया कि हमलों को टालने और कांग्रेस की अनुमति लेने का ओबामा का फैसला महज एक राजनीतिक स्टंट है और मीडिया की चाल है.

सीरियाई सरकार मार्च 2011 से विद्रोहियों से लड़ रही है. इस दौरान करीब एक लाख लोगों की मौत हो चुकी है और कम से कम 17 लाख लोग शरणार्थी हो चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार