प्रकाश के 'परावर्तन' से पिघल गई जगुआर

  • 5 सितंबर 2013
Image caption वॉकी-टॉकी नाम से चर्चित इसी इमारत से प्रकाश का परावर्तन हुआ था.

लंदन में एक व्यक्ति का दावा है कि बहुमंज़िला इमारत से प्रकाश के परावर्तन के कारण पास में खड़ी उसकी जगुआर कार के कुछ हिस्से पिघल गए.

मार्टिन लिंडसे का कहना है कि उन्होंने शहर के ईस्टचिप में अपनी जगुआर को खड़ा किया था, लेकिन जब क़रीब दो घंटे बाद वह लौटकर आए तो उन्होंने देखा कि उनकी कार में लगी साइड मिरर सहित कुछ चीज़ें पिघल गई हैं.

लिंडसे ने कहा कि उन्हें इस नुक़सान को लेकर भरोसा नहीं हो रहा था. इमारत के डेवलपर्स ने इसके लिए खेद जताते हुए मरम्मत पर आए ख़र्च का भुगतान किया है.

यह 37 मंज़िला इमारत 20 पेनचर्च स्ट्रीट पर स्थित है, जिसे वॉकी टॉकी के नाम से जाना जाता है.

एक कंपनी के निदेशक लिंडसे ने कहा, ''सड़क से नीचे उतरते समय एक फ़ोटोग्राफ़र को फ़ोटो लेता देख मैंने उससे पूछा कि क्या हुआ? फ़ोटोग्राफ़र ने मुझसे कहा, क्या आपने उस कार को देखा है, उसका मालिक बहुत दुखी होगा.''

डेवलपर्स ने खेद जताया

''मैंने कहा, मैं ही मालिक हूं. उसने आश्चर्य जताते हुए कहा, बहुत बुरा हुआ.'' कार का विंग मिरर, पैनल्स और बैगेज पिघल गए थे.

लिंडसे ने कहा, ''आप भरोसा नहीं कर सकते कि ऐसा भी कुछ हो सकता है. यह ख़तरनाक हो सकता था. कल्पना कीजिए, प्रकाश का परावर्तन शरीर के किसी हिस्से पर पड़ता तो क्या होता.''

इस घटना के बाद इमारत के डेवलपर्स लैंड सिक्यूरिटीज एंड कैनरी हार्फ़ ने एक संयुक्त बयान में कहा, ''हम 20 पेनचर्च स्ट्रीट से प्रकाश के परावर्तन से जुड़ी चिंताओं से अवगत हैं और इस मामले को देख रहे हैं.''

बयान में कहा गया है, ''ऐहतियाती क़दम के रूप में इस क्षेत्र में तीन पार्किंग क्षेत्रों में पार्किंग करने पर पाबंदी लगा दी गई है.''

लिंडसे ने कहा है कि डेवलपर्स ने खेद जताते हुए मरम्मत पर हुए 946 पाउंड के ख़र्च का भुगतान कर दिया है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार