चार महीने बाद बर्फ़ीली पहाड़ियों में ज़िन्दा मिले

जाको रखे साइयां मारे सके न कोय. ऐसा ही कुछ हुआ उरुगुए के 58 वर्षीय राउल फ़रनांडो गोम्ज़ सिरकूनिगुई के साथ. जिसे अर्जेंटीना के अधिकारियों ने उनके लापता होने के चार महीने बाद एंड्स की बर्फ़ीली पहाड़ियों से जीवित ढूंढ निकाला.

अधिकारियों के अनुसार राउल अपनी गिरफ़्तारी से बचने के लिए चिली से अर्जेंटीना भागने की कोशिश कर रहे थे.

राउल मई में लापता हुए थे, जब उनकी मोटरबाइक बर्फ़ीली तूफ़ान में ख़राब हो गई.

इसके बाद उन्हें 9300 फ़ीट ऊंची पहाड़ियों पर पर्वतारोहियों के शिविरों में बचे हुए खाने-पीने के सामान, यहां तक की चूहे खाकर अपनी जान बचानी पड़ी.

इस दौरान राउल का वज़न 20 किलोग्राम कम हो गया और शरीर में पानी की काफ़ी कमी हो गई.

इससे पहले अधिकारियों ने काफ़ी खोजबीन करने के बाद भी राउल के न मिलने और मौसम के ख़राब हो जाने की वजह से उनकी तलाश बंद कर दी थी.

लेकिन पहाड़ी इलाक़ों में इन शिविरों के पास बर्फ़ का स्तर रिकॉर्ड करने हेलिकॉप्टर से आए उत्तरी-पश्चिमी प्रांच सन जुआन के अधिकारियों की नज़र राउल पर पड़ी.

सन जुआन के गर्वनर जोस लुइस गिओज़ा ने कहा कि यह घटना अपने आप में किसी चमत्कार से कम नहीं है. हमें अभी भी इस बात पर यक़ीन नहीं हो रहा.

गर्वनर ने कहा कि उन्होंने राउल को उनकी पत्नी, मां और बेटियों से मिलने की इजाज़त दे दी है.

डॉक्टरों का कहना है कि राउल का अस्पताल में इलाज चल रहा है. उनके जल्द ही ठीक हो जाने की उम्मीद है.

गिरफ़्तारी वारंट

चिली के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि कर दी है कि राउल एक बाल शोषण मामले में वांछित हैं. उनके ख़िलाफ़ 22 अप्रैल को गिरफ़्तारी वारंट जारी किया गया था.

उरुगुए के बेला यूनियन के रहने वाले राउल की मां ने कहा कि उन्हें इन आरोपों पर विश्वास नहीं हैं. वह एक अच्छे और मेहनती व्यक्ति है.

बेला यूनियन में हर व्यक्ति उन्हें जानता है, जहां राउल ने कभी भी किसी के लिए परेशानी नहीं पैदा की.

इससे पहले 1972 में एक विमान दुर्घटना में उरुगुए की रग्बी टीम के सदस्यों ने भयंकर रूप से कंपकपा देने वाली सर्दी में 72 दिन बिताए थे.

इस दौरान उन्होंने दुर्घटना में मारे गए साथियों के शरीर खाकर अपने आपको ज़िन्दा रखा. इसमें 45 यात्रियों में से केवल 16 लोग ही ज़िन्दा बचे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार