उत्तर कोरिया: 'फिर चलेगा योंगब्योन रिएक्टर'

एक अमरीकी संस्था के अनुसार उत्तर कोरिया के योंगब्योन परमाणु संयंत्र से भारी मात्रा में भाप निकलने की घटना से लगता है कि रिएक्टर को फिर से शुरू किया जा रहा है और यह जल्द ही कार्य करना शुरू कर देगा.

संस्था के अनुसार, भाप का रंग और मात्रा इस बात के संकेत देते हैं कि रिएक्टर 'कार्य करने की स्थिति तक' पहुंच गया है.

ये रिएक्टर प्लूटोनियम का उत्पादन कर सकता है और उत्तर कोरिया इसका इस्तेमाल परमाणु हथियार बनाने में कर सकता है.

जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के अमरीका-कोरिया इंस्टीट्यूट द्वारा तैयार यह रिपोर्ट 38 नॉर्थ वेबसाइट पर प्रकाशित की गई है.

उत्तर कोरिया में जारी घटनाक्रम पर नजर रखने के लिए इंस्टीट्यूट सेटेलाइट तस्वीरों का इस्तेमाल करता है.

टरबाइन

बिजली पैदा करने के लिए रिएक्टर में भाप चालित टरबाइन होते हैं.

रिपोर्ट के अनुसार, गत 31 अगस्त को सैटेलाइट तस्वीर में दिखी भाप इस बात की पुष्टि करती है कि बिजली व्यवस्था जल्द ही शुरू होने जा रही है.

रिपोर्ट के लेखक जेफरी लुइस ने बीबीसी को बताया, "ऐसा लगता है कि रिएक्टर या तो शुरू हो गया है या कुछ ही दिन में पूरी तरह कार्य करना शुरू कर देगा".

लुइस का कहना है कि जितनी ही जल्दी यह शुरू हो जाएगा, प्लूटोनियम का उत्पादन भी शुरू कर देगा.

उत्तर कोरिया ने ''निःशस्त्रीकरण के बदले सहायता'' समझौते के तहत 2007 में योंगब्योन रिएक्टर को बंद कर दिया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

संबंधित समाचार