यूएन रिपोर्ट में होगी 'रासायनिक हमले की पुष्टि'

बान की मून
Image caption बान की मून को सौंपी गई रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र की रिपोर्ट में इस बात की पुष्टि होनी है कि सीरिया की राजधानी दमिश्क के पास पिछले महीने जहरीली सारिन गैस के इस्तेमाल होने के 'पुख्ता सबूत' हैं.

रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के आरोपों की जांच करने सीरिया गई संयुक्त राष्ट्र की टीम के प्रमुख एके सेल्सस्ट्रोम को एक तस्वीरे में अपनी रिपोर्ट संयुक्त राष्ट्र के महासचिव बान की मून को सौंपते हुए दिखाया गया है.

इस तस्वीर में रिपोर्ट के मुख्य पृष्ठ को देखा जा सकता है.

अमरीकी और पश्चिमी देश जहां इसके लिए सीरियाई सरकार को जिम्मेदार ठहराते हैं, वहीं सीरिया के राष्ट्रपति बशर अल असद और उनके सहयोगी समझे जाने वाले रूस के अनुसार इस हमले के पीछे सीरियाई विद्रोहियों का हाथ है.

अमरीका के अनुसार इस हमले में 1429 लोग मारे गए थे.

'युद्ध अपराध'

रासायनिक हथियारों के इस्तेमाल के बाद अमरीका ने सीरिया पर सैन्य कार्रवाई की धमकी दी थी, लेकिन रासायनिक हथियारों के बाद रूस और अमरीका के बीच हुए समझौते के बाद सैन्य कार्रवाई की संभावना कमजोर पड़ती दिखी रही है.

इस समझौते के तहत सीरिया अपने रासानयिक हथियारों के भंडार के बारे में हफ्ते भर में जानकारी देने और अगले साल के मध्य तक उन्हें नष्ट करने पर सहमत हो गया है.

Image caption गृह युद्ध से जूझ रहा है सीरिया

अगर सीरिया ऐसा करने में नाकाम रहता है तो संयुक्त राष्ट्र इस समझौते को बल पूर्वक लागू कर सकता है.

इस बीच, जिनेवा में संयुक्त राष्ट्र के मानवाधिकार जांचकर्ताओं ने कहा कि इस बात के प्रमाण है कि सीरिया में कई मौकों पर रासायनिक हथियारों का इस्तेमाल किया गया.

उनका कहना है कि वहां दूसरे युद्ध अपराध भी हो रहे हैं जिसमें बड़े पैमाने पर लोगों को मारना, बलात्कार और उत्पीड़न के मामले भी शामिल है.

'जोरदार प्रस्ताव'

दूसरी तरफ फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांड ने कहा है कि सीरिया के रासायनिक हथियारों के खात्मे के लिए फ्रांस, ब्रिटेन और अमरीका संयुक्त राष्ट्र में एक 'ज़ोरदार प्रस्ताव' चाहते हैं.

राष्ट्रपति ओलांड ने बताया कि फ्रांसीसी विदेश मंत्री ने लौरें फाबिया ने ब्रितानी विदेश मंत्री विलियम हेग और अमरीकी विदेश मंत्री जॉन केरी से सोमवार को पेरिस में मुलाकात की.

इस बीच, फ्रांसीसी विदेश मंत्री ने कहा है कि फ्रांस, ब्रिटेन और अमरीका इस बात पर सहमत हो गए हैं कि सीरिया में जारी संघर्ष का राजनीति समाधान तलाशने के लिए एक नया शांति सम्मेलन बुलाया जाए.

सीरिया हाल ही में रासायनिक हथियारों पर वैश्विक संधि में शामिल होने के लिए सहमत हो गया और संयुक्त राष्ट्र का कहना है कि वो 14 अक्तूबर से इसका हिस्सा बन जाएगा.

इससे पहले सीरिया के एक वरिष्ठ मंत्री ने रासायनिक हथियारों पर हुए समझौते को सीरियाई सरकार की जीत बताया और इसके लिए रूस को धन्यवाद दिया.

सीरियाई मंत्री अली हैदर ने रूसी समाचार एजेंसी रिया नोवोस्ती ने बताया कि "एक तरफ तो इससे सीरिया को संकट से उबरने में मदद मिली है, तो दूसरी तरफ इससे सीरिया के खिलाफ युद्ध से बचने में मदद मिली है."

सीरिया पिछले ढाई साल से गृह युद्ध के हालात के जूझ रहा है और संयुक्त राष्ट्र के अनुसार इस संघर्ष में लगभग एक लोग मारे जा चुके हैं.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार