बेटियों की 'हत्या' करने वाली मां को उम्र क़ैद

  • 19 सितंबर 2013
Image caption चीन में एक महिला को अपनी दो बेटियों के मारने के मामले में उम्र कैद की सज़ा सुनाई गई है.

चीन के पूर्वी शहर नानज़िंग की एक अदालत ने 22 साल की एक महिला को उम्र क़ैद की सज़ा सुनाई है.

इस महिला को अपनी ही दो बेटियों को घर में भूखा रखकर मार देने के आरोप में दोषी पाया गया.

नानज़िंग की म्यूनिसिपल इंटरमीडिएट पीपल्स कोर्ट ने कहा कि ली यान ने कई महीने तक अपनी बेटियों की कोई देखभाल नहीं की.

भूख-प्यास से मौत

ली की एक बेटी दो साल की थी, जबकि दूसरी एक साल की. ये दोनों 21 जून को शहर के एक घर में मृत पाई गईं थीं.

ली पर आरोप था कि उन्होंने अपनी दोनों बेटियों को अप्रैल में घर में बंद कर दिया और घर के दरवाज़े और खिड़कियां बंद कर बाहर चली गईं.

ली इसके बाद अपने घर नहीं लौटीं. अदालत के मुताबिक़ ली को पुलिस ने ज़िले के हैमबर्गर भोजनालय से तब गिरफ़्तार किया जब उनकी बेटियों की मौत हो गई थी.

जांच में पाया गया कि दोनों बच्चियों की मौत भूख और शरीर में पानी की कमी से हुई.

ली का जन्म वेडलॉक शहर में हुआ था, उन्हें उनकी दादी मां ने पाल पोसकर बड़ा किया.

वे 16 साल की उम्र में अपने घर से भाग निकलीं और बाद में नशे की आदी बन गईं.

ली के पति को भी पुलिस ने इस साल फ़रवरी महीने में ड्रग संबंधित अपराध में गिरफ़्तार किया था, हालांकि बाद में उन्हें छोड़ दिया गया.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार