कोलोराडो बाढ़ में सैकड़ों लापता, हज़ारों बेघर

कोलोराडो में बाढ़

कोलोराडो में अधिकारियों का कहना है कि आपातकालीन टीमें अब भी बाढ़ में लापता सैकड़ों लोगों को खोजने के काम में लगी हुईं हैं. सरकारी अधिकारियों के अनुसार अब भी 650 लोगों के बारे में अब तक कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है.

लेकिन अधिकारियों का कहना है कि हो सकता है कि भारी बारिश के कारण वे सारे लोग किसी दूर दराज़ इलाक़े में फंसे हुए हों और उनसे संपर्क नहीं हो पा रहा है.

भारी बारिश के कारण कई शहरों में पानी भर गया है. अब तक तीन हज़ार लोगों को सुरक्षित निकाला जा चुका है.

अधिकारियों के अनुसार कई दिनों की बारिश के बाद पिछले बुधवार को अचानक बाढ़ आ गई.

इसमें अब तक छह लोगों के मारे जाने की पुष्टि हो गई है. संपत्ति का भी भारी नुक़सान हुआ है. लगभग 1500 घर और 17 हज़ार दूसरी संपत्तियां इस बाढ़ के शिकार बने हैं.

17 शहर बाढ़ की चपेट में

कोलोराडो राज्य के सभी 17 शहर बाढ़ की चपेट में हैं. बोल्डर शहर में लगभग 53 सेंटीमीटर बारिश हुई, जो उस इलाक़े की औसत बारिश का दोगुना है.

मंगलवार तक सेना के हेलिकॉप्टरों ने 2400 लोगों और 850 से ज़्यादा मवेशियों को बचाकर सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया था.

अधिकारियों के अनुसार आठ साल पहले 2005 में आए कटरीना तूफ़ान के बाद से वायुसेना की मदद से चलाया जाने वाला सबसे बड़ा बचाव अभियान है.

कोलोराडो नेशनल गार्ड के लेफ़्टिनेंट स्काई रॉबिंसन ने अनुसार बाढ़ से प्रभावित सभी इलाक़ों तक पहुंचने और मारे गए लोगों का सही आकलन करने में हफ़्तों या फिर महीने भी लग सकते हैं.

हज़ारों बेघर

बीबीसी संवाददाता एलेस्टेयर लीथहेड के अनुसार सेना के हेलिकॉप्टर बाढ़ में फंसे लोगों के लिए खाने-पीने का सामान और दवाएं गिरा रहे हैं, लेकिन राहत कार्यों का मुख्य ध्यान हज़ारों बेघर लोगों के लिए आपातकालीन घर मुहैया कराना है.

दूर-दराज़ इलाक़ों से पानी निकलने और क्षतिग्रस्त घरों की मरम्मत में महीनों लग सकते हैं. बाढ़ के कारण सड़कों और पुलों को हुए नुक़सान का भी जायज़ा लिया जा रहा है.

अधिकारियों के अनुसार लगभग 400 मील सड़क और 30 से ज़्यादा पुल टूट गए हैं.

राष्ट्रपति बराक ओबामा ने इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित कर दिया है, इसके बाद केंद्र सरकार के ज़रिए राज्य की मदद की जा सकेगी.

बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए फ़िलहाल 50 लाख डॉलर यानी लगभग 30 करोड़ रूपए दिए गए हैं लेकिन कोलोराडो के पुनर्वास में अभी कितने पैसों की ज़रूरत होगी कहना मुश्किल है.

(क्या आपने बीबीसी हिन्दी का नया एंड्रॉएड मोबाइल ऐप देखा? डाउनलोड करने के लिए यहां क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार