नोकिया के बाद बिकने को तैयार है ब्लैकबेरी

  • 24 सितंबर 2013
ब्लैकबेरी, Blackberry

स्मार्टफ़ोन बाज़ार में तेज़ी से पिछड़ रही ब्लैकबेरी कंपनी की बिक्री को सैद्धांतिक रूप से मंजूरी मिल गई है.

फ़ेयरफ़ैक्स फाइनेंशियल के नेतृत्व में कंपनियों का एक दल 4.7 अरब डॉलर यानी करीब 300 अरब रूपए में ब्लैकबेरी को खरीद सकता है.

ब्लैकबेरी ने एक बयान जारी कर कहा कि 10 प्रतिशत स्टॉक के साथ उसके सबसे बड़े शेयरधारक, फ़ेयरफ़ैक्स ने 9 डॉलर प्रति शेयर की कीमत से कंपनी खरीदने की पेशकश की है.

हालांकि कंपनी ने कहा है कि वो फ़ेयरफ़ैक्स से बातचीत जारी रखेगा लेकिन, दूसरे विकल्प के लिए भी रास्ता खुला रखेगा.

बीते शुक्रवार, कंपनी ने घाटा कम करने के लिए साढ़े चार हज़ार नौकरियां खत्म करने की घोषणा की थी.

बिक्री में सुस्ती

कनाडाई कंपनी ब्लैकबेरी ने कहा है कि उसके उत्पादों की बिक्री में मंदी के चलते उसे एक अरब डॉलर का घाटा झेलना पड़ सकता है.

सोमवार को कंपनी ने कहा, “हमने फ़ेयरफ़ैक्स फाइनेंशियल के साथ एक समझौते पर हस्ताक्षर किया है, जिसके तहत फ़ेयरफ़ैक्स की नेतृत्व में कपनियों ने ब्लैकबेरी खरीदने की इच्छा जताई है. हालांकि इससे पहले बाक़ी विकल्पों पर भी विचार किया जाएगा.”

कंपनी के अनुसार वो चार नवंबर तक बाज़ार से जानकारियां जुटा लेगा जिसके बाद बिक्री की प्रकिया आगे बढ़ेगी.

ब्लैकबेरी ने हालांकि कहा कि कंपनी की बिक्री के लिए वो अकेले फ़ेयरफ़ैक्स से बातचीत नहीं कर रही है और वो नए ऑफ़र भी तलाशेगा.

फ़ेयरफ़ैक्स के अध्यक्ष, कनाडाई अरबपति प्रेम वत्सा ने कहा, “हमें लगता है कि ये व्यापार ब्लैकबेरी के इतिहास और इसके उपभोक्ताओं, कर्मचारियों के लिए एक महत्वपूर्ण पड़ाव होगा.”

उन्होंने कहा, “हम शेयरधारकों को उनके पैसों की सही कीमत दे सकते हैं. इसके साथ कंपनी के लंबे दौर की रणनीति पर भी काम होता रहेगा ताकि ब्लैकबेरी अपने उपभोक्ताओं को बेहतर उत्पाद देती रहे.”

फ़ेयरफ़ैक्स से डील

मॉर्निंगस्टार के विश्लेषक ब्रायन कोलेलो ने कहा, “ब्लैकबेरी को निजी क्षेत्र में रखने से कंपनी को वॉल स्ट्रीट निवेशकों की नज़रों में चढ़ने से बचते हुए बदलाव करने का मौका मिलेगा.”

उन्होंने कहा, “शुक्रवार को कंपनी को मिली घाटे की चेतावनी के बाद ये डील होनी ही थी और ये जितनी जल्दी हो जाए उतना अच्छा है. हो सकता है कि फ़ेयरफ़ैक्स के अलावा और कोई इसे खरीदने के लिए आगे भी न बढ़े.”

सीसीएस इनसाइट के रिसर्च प्रमुख, बेन वुड कहते हैं कि फ़ेयरफ़ैक्स के साथ डील करने से ब्लैकबेरी को पुनरनिर्माण का मौका मिलेगा.

ब्लैकबेरी के नए स्मार्टफ़ोन ज़ेड10 की मांग में कमी के कारण कंपनी को वित्तीय संकटों का सामना करना पड़ा है.

कई रुकावटों के बाद इस साल जनवरी में लॉन्च हुआ ये फ़ोन लोगों को रिझा पाने में विफल साबित हुआ है.

नौकरियों में कटौती की घोषणा के बाद कंपनी के शेयर कीमतों में 17 फ़ीसदी की कमज़ोरी आई, लेकिन सोमवार को फ़ेयरफ़ैक्स डील की खबर के बाद कीमतों में एक फ़ीसदी का सुधार आया है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार