चीनः उम्रक़ैद के ख़िलाफ़ अपील करेंगे बो शिलाई

  • 23 सितंबर 2013

चीन में रिपोर्टों के मुताबिक कम्युनिस्ट पार्टी के पूर्व नेता बो शिलाई अपने ख़िलाफ़ सुनाए गए फ़ैसले के ख़िलाफ़ अपील करेंगे.

रविवार को चोंगकिंग के पूर्व पार्टी प्रमुख बो शिलाई को उम्रकैद की सज़ा सुनाई गई थी.

उन्हें घूसखोरी, गबन और सत्ता के दुरुपयोग का दोषी पाए जाने के बाद अदालत ने यह सज़ा सुनाई है.

ब्रितानी व्यापारी नील हेवुड की हत्या में बो शिलाई की बीवी को दोषी पाए जाने के बाद चोंगकिंग के इस लोकप्रिय नेता को पिछले साल उनके पद से हटा दिया गया था.

बो शिलाई ने अपना पुरज़ोर बचाव करते हुए अपने ख़िलाफ़ सभी आरोपों से इनकार किया था.

ताकतवार नेता थे बो शिलाई

समाचार एजेंसी एएफ़पी ने इस मामले की "सीधी जानकारी" रखने वाले एक वकील के हवाले से कहा, "बो शिलाई ने फ़ैसले के बाद अदालत से मामले में आगे अपील करने की अर्ज़ी दी."

बो शिलाई को चीन के पोलित ब्यूरो स्टैंडिंग कमेटी में शामिल किए जा सकने वाले संभावित उम्मीदवारों में गिना जाता था. सात सदस्यों वाली यह कमेटी चीन की सबसे ताकतवर राजनीतिक संस्था है.

लेकिन दो साल पहले उनकी पत्नी गू काईलाई को एक ब्रितानी कारोबारी नील हेवुड की हत्या में दोषी ठहराया गया जिसके बाद से बो के राजनीतिक जीवन पर ग्रहण लग गया.

बो की पत्नी को हेवुड की हत्या के जुर्म में सज़ा-ए-मौत सुनाई जा चुकी है.

फ़रवरी 2012 में सामने आए हेवुड हत्याकांड मामले में उनकी पत्नी की भूमिका के चलते बो को पार्टी से निकाल दिया गया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार