कीनिया शॉपिंग सेंटर हमला: गोलीबारी जारी

  • 23 सितंबर 2013
कीनिया, नैरोबी, शॉपिंग सेंटर, अल साहाब, सोमालिया, हमला, गोलीबारी

कीनिया की राजधानी नैरोबी के शॉपिंग सेंटर में भारी गोलीबारी की आवाज़ें आ रही हैं, साथ ही धमाके भी हो रहे हैं. माना जा रहा है कि इसी शॉपिंग सेंटर में चरमपंथियों ने कई लोगों को बंधक बना रखा है.

शनिवार से जारी इस हमले में 69 लोगों की मौत हो चुकी है और 170 से ज़्यादा घायल हुए हैं.

10 से 15 हमलावर अब भी वेस्टगेट शॉपिंग सेंटर में हैं. सोमालिया के अल शबाब मूवमेंट ने इस हमले की ज़िम्मेदारी ली है.

मौक़े पर मौजूद संवाददाताओं का कहना है कि कई बार तेज़ गोलीबारी हो रही है.

निर्णायक कार्रवाई

इससे पहले कीनियाई अधिकारियों ने बीबीसी को बताया था कि शॉपिंग सेंटर में फंसे अधिकांश लोग बचा लिए गए हैं.

कर्नल साइरस ओगुना ने कहा था कि केवल कुछ लोग ही अभी चरमपंथियों के कब्ज़े में हैं. माना जा रहा है कि हमलावर चरमपंथी सोमालिया के अल शहाब संगठन के हैं.

कर्नल ओगुना ने कहा कि बचाए गए कुछ लोगों में पानी की कमी हो गई है.

उन्होंने उम्मीद जताई कि अभियान जल्द ही ख़त्म हो जाएगा. उन्होंने बताया कि शॉपिंग सेंटर का बड़ा हिस्सा अब सुरक्षा बलों के कब्ज़े में है.

हमले में कुल 175 लोग घायल हुए हैं, इनमें चार सैनिक भी शामिल हैं, जिन्हें अस्पताल ले जाया गया है.

ऐसी भी ख़बरें हैं कि बंदूक़धारी अभी भी एक सुपर मार्केट में छिपे हैं. माना जा रहा है कि परिसर में जो नागरिक हैं, उन्हें या तो बंधक बनाया गया है या वे छिपे हुए हैं.

कर्नल ओगुना ने कहा सैनिक बिल्डिंग को खाली करा रहे हैं. ऐसे में और शवों के मिलने की आशंका है.

मज़बूत और एकजुट

शॉपिंग सेंटर के बाहर मौज़ूद बीबीसी संवाददाता गैबरियल गेटहाउस ने कहा कि उन्हें ऐसी कोई चीज सुनाई या दिखाई नहीं दे रही, जिससे लगे कि सुरक्षा बल अंतिम कार्रवाई कर रहे हैं. रविवार को भी लोग बचकर शॉपिंग सेंटर से बाहर आते रहे.

कीनिया के राष्ट्रपति उहरू कीनियाटा ने रविवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा था कि विपरीत परिस्थितियों में भी देश मज़बूत और एकजुट था.

उन्होंने कहा, ''अपराधी बिल्डिंग में ही एक जगह जमा हैं.'' उन्होंने कहा कि हम आशा कर सकते हैं कि चरमपंथियों को बेअसर करने का यह बेहतर मौक़ा है. उन्होंने राहत और बचाव कार्य में मदद करने वालों का धन्यवाद किया और अन्य देशों से अपील की कि वे कीनिया को लेकर यातायात चेतावनी न जारी करें.

उन्होंने बताया कि मरने वालों में उनके भतीजे और उनकी मंगेतर भी शामिल है.

इस बीच ब्रिटेन के विदेश विभाग ने पुष्टि की है कि हमले में तीन ब्रितानी मारे गए हैं. विभाग का कहना है कि मृतकों की संख्या बढ़ सकती है.

ब्रितानी प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने इसे भयावह क्रूरता वाला घृणित और कुत्सित हमला बताया है.

मदद की अपील

अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने रविवार को राष्ट्रपति कीनियाटा को फ़ोन कर हमले के प्रति शोक जताया और साजिशकर्ताओं को न्याय के कठघरे में लाने के लिए सहयोग देने की पेशकश की.

अमरीकी अधिकारियों का कहना है कि एक अंतरराष्ट्रीय एजेंसी के लिए काम करने वाले एक अमरीकी नागरिक की पत्नी हमले में मारी गई हैं. हमले में घाना के प्रसिद्ध कवि कोफ़ी आवानर भी मारे गए हैं, जो नैरोबी में साहित्य महोत्सव में भाग ले रहे थे.

इसके अलावा हमले में भारतीय, फ्रांसीसी, डच, दक्षिण अफ़्रीकी और कनाडाई नागरिक मारे गए हैं. हज़ारों कीनियाईयों ने रक्तदान के लिए आगे आए हैं.

अल शहाब का कहना है कि उसने सोमालिया में जारी कीनियाई सेना के अभियान के विरोध में यह हमला किया है. अल क़ायदा से जुड़े इस समूह ने कहा है कि अगर कीनिया ने सोमालिया से अपनी सेना न हटाई, तो वह और हमले करेगा.

सोमालिया के दक्षिण में 2011 से क़रीब चार हज़ार कीनियाई सैनिक चरमपंथियों से लड़ रहे हैं.

यह हमला शनिवार को स्थानीय समयानुसार क़रीब 12 बजे शुरू हुआ था, जब 10-15 चरमपंथी वेस्टेगट शॉपिंग सेंटर में घुसे थे. उन्होंने वहां हथगोले फेंके थे और स्वचालित हथियारों से गोलियां चलाई थीं. घटना के वक़्त शॉपिंग सेंटर में चिल्ड्रेन डे मनाया जा रहा था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार