कीनिया: वेस्टगेट मॉल में शवों की तलाश

नैरोबी का वेस्टगेट मॉल, कीनिया
Image caption नैरोबी के वेस्टगेट मॉल को हुए नुकसान की नई फ़ुटेज सामने आई है.

कीनिया की राजधानी नैरोबी के वेस्टगेट शॉपिंग मॉल में इस्लामिक चरमपंथियों के हमले और चार दिन तक चली घेराबंदी में मारे गए लोगों की कुल संख्या के बारे में अब भी अनिश्चितता है. इस अनिश्चितता के बीच कीनियाई और विदेशी फोरेंसिक टीमें मॉल में शवों की तलाश कर रही हैं.

अब तक 67 लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

कीनिया के गृह मंत्री का कहना है कि उन्हें नहीं लगता कि मृतकों की संख्या बहुत ज़्यादा बढ़ेगी. उनका मानना है कि अब सिर्फ़ चरमपंथियों के शव ही मिलेंगे.

लेकिन कीनियाई रेड क्रॉस ने कहा है कि अब भी 61 लोगों के बारे में कोई जानकारी नहीं है.

कड़ी सुरक्षा

इस बीच कीनिया में हादसे में मारे गए नागरिकों और सैनिकों के लिए तीन दिन का आधिकारिक शोक जारी है.

गुरुवार को गर्भवती टेलीविज़न और रेडियो स्टार रुहिला अदातिया समेत कई लोगों का अंतिम संस्कार हुआ.

नैरोबी में सुरक्षा कड़ी कर दी गई है और बसों में बैठने से पहले यात्रियों की सुरक्षाकर्मियों द्वारा मेटल डिक्टेटर से जांच हो रही हैं.

कीनियावासियों में इस बात को लेकर चिंता बढ़ रही है कि उनकी सरकार ऐसे हमलों के लिए कितनी तैयार है. इन चिंताओं के बीच ख़बरें आ रही हैं कि देश की आतंकवादी रोधी नीति और सरकार के विपदा प्रतिक्रिया समन्वय की अब समीक्षा होगी.

वेस्टगेट मॉल में हमले से जुड़े सबूतों, उंगलियों के निशान वगरैह जुटाने में अमरीका, ब्रिटेन, जर्मनी, कनाडा और इंटरपोल के विशेषज्ञ कीनियाई जांचकर्ताओं की मदद कर रहे हैं.

Image caption वेस्टगेट मॉल में कीनियाई और विदेशी फोरेंसिक टीमें सबूत जुटा रही हैं.

बुधवार को गृह मंत्री जोसफ़ ओले लेंकु ने पत्रकारों को बताया कि जांच अब दूसरे चरण में पहुंच गई है. उन्होंने ये भी कहा कि फोरेंसिक जांच में कम से कम सात दिन लग सकते हैं.

लापता लोगों को ढूंढने की मुहिम

इस बीच बीबीसी संवाददाता बशकास जगसुदाय ने बताया कि मध्य नैरोबी के उहुरु पार्क में कई संगठनों ने सलाह देने और रक्त दान के लिए शिविर लगाए हैं. इनमें रेड क्रॉस भी शामिल है जो लोगों को लापता रिश्तेदारों को ढूंढने में मदद कर रहा है.

बीबीसी संवाददाता का ये भी कहना है कि वे गुरुवार को कई घंटे तक इस पार्क में रहे लेकिन उन्हें कोई ऐसा व्यक्ति नहीं मिला जो किसी लापता व्यक्ति को ढूंढ रहा हो. संवाददाता का कहना है कि ज़्यादातर लोगों ने अपने नाम और फोन नंबर दर्ज करा दिए हैं ताकि कोई ख़बर मिलने पर उनसे संपर्क किया जा सके.

रेड क्रॉस का कहना था कि बुधवार को उन्होंने 15 मामले सुलझाए. इनमें छह लापता लोगों को ढूंढ कर उनके परिवारों से मिलवाया गया और नौ शवों की उनके परिवार वालों ने पहचान की.

उधर मारे गए चरमपंथियों की पहचान करने का काम जारी है. इनमें एक महिला भी है.

गृह मंत्री ने कहा कि वो इस बात की पुष्टि नहीं कर सकते कि हमलावरों में कोई ब्रितानी या अमरीकी शामिल थे लेकिन इस मामले में 10 लोगों को हिरासत में लिया गया है.

ट्विटर पर लड़ाई

सोमाली चरमपंथी गुट अल शबाब ने कहा है कि सोमालिया में कीनियाई सुरक्षाबलों की मौजूदगी का बदला लेने के लिए उसने वेस्टगेट मॉल में हमला किया है.

अल शबाब ने अपने ट्विटर अकाउंट पर कहा है कि उसके चरमपंथियों ने 137 लोगों को बंधक बनाया था. गुट का दावा था कि घेराबंदी ख़त्म करने के लिए सुरक्षाबलों द्वारा रासायनिक एजेंटों के इस्तेमाल की वजह से बंधकों की मौत हुई.

लेकिन अल शबाब की इन ट्विटर पोस्ट की पुष्टि नहीं हो पाई है. एक सरकारी प्रवक्ता ने रासायनिक एजेंटों के इस्तेमाल से इनकार किया है और प्रशासन ने लोगों से चरमपंथियों का प्रचार नज़रअंदाज़ करने के लिए कहा है.

(बीबीसी हिन्दी के क्लिक करें एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार