मिस्र में फिर हुई हिंसा, चार की मौत

Image caption मोर्सी समर्थकों और आम नागरिकों के बीच भी हिंसा की खबर है

मिस्र में अपदस्थ राष्ट्रपति मोहम्मद मोर्सी के समर्थकों और सरकारी सेनाओं के बीच कई शहरों में हिंसक झड़पों की खबरें मिली हैं. प्रदर्शनकारियों पर सेना द्वारा की गई गोलीबारी में कम से कम चार लोगों के मारे जाने की खबर है.

प्रदर्शनकारी राजधानी काहिरा स्थित तहरीर चौक पर पहुंचने की कोशिश कर रहे थे लेकिन सेना ने उन्हें रोक दिया. इस दौरान राजधानी काहिरा के मध्यवर्ती हिस्से में भारी गोलीबारी और धमाकों की आवाजें सुनी गईं और सेना ने प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए आँसू गैस का प्रयोग किया.

सरकारी टेलीविजन ने खबर दी है कि उत्तरी शर्किया जिले और गीजा के पूर्वी हिस्से के अलावा बंदरगाह शहर अलेक्जेंड्रिया में भी झड़पें हुई हैं.

इसके अलावा मोर्सी समर्थकों और सेना समर्थक आम नागरिकों के बीच भी झड़पों की खबर है.

मौत

गत जुलाई महीने से अब तक हुए प्रदर्शनों में मिस्र में सैकड़ों लोगों की मौत हो चुकी है.

इन दो महीनों में मुस्लिम ब्रदरहुड के हजारों सदस्यों को हिरासत में भी लिया जा चुका है.

अधिकारी इन झड़पों को आतंकवाद के विरुद्ध लड़ाई का नाम दे रहे हैं.

बीबीसी संवाददाता का कहना है कि सरकारी सैनिकों ने मोर्सी समर्थकों पर उस वक्त आँसू गैस के गोले छोड़े जब वे लोग तहरीर चौक की ओर रवाना हो रहे थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार