सीरियाः रसायनिक हथियार नष्ट करने की प्रक्रिया में प्रगति

सीरिया

सीरिया में रसायनिक हथियारों की ज़िम्मेदारी लेने वाले दल ने सीरियाई सरकार के अधिकारियों के साथ मुलाक़ात के बाद कहा है कि उन्होंने शुरुआत में उत्साहजनक तरक्क़ी हासिल की है.

संयुक्त राष्ट्र समर्थित रसायन हथियार निषेध संस्था (ओपीसीडब्ल्यू) ने कहा है कि सीरियाई सरकार द्वार उपलब्ध करवाए गए दस्तावेज़ आशाजनक प्रतीत हो रहे हैं.

दल ने कहा है कि अभी तकनीकी पक्ष को समझना बाक़ी है और कई सवाल और हैं जो पूछे जाने हैं.

अगले सप्ताह से टीम रसायनिक हथियारों के ठिकानों का निरीक्षण और हथियार नष्ट करने की प्रक्रिया की शुरुआत करेगी.

न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र की ओर से जारी किए गए एक बयान में कहा गया है कि हथियारों को नष्ट करने की समय सारिणी सीरियाई हथियार विशेषज्ञों से बातचीत के नतीजों के बाद तय की जाएगी.

सहयोग

विशेषज्ञों का कहना है कि वे सीरियाई सरकार द्वारा उपलब्ध करवाई गई सूचनाओं की पुष्टि करना चाहते हैं. जाँच दल की सुरक्षा भी बड़ी प्राथमिकता है.

संयुक्त राष्ट्र के प्रवक्ता मार्टिन नेसिर्की ने कहा, "तकनीकी विशेषज्ञ हर दस्तावेज़ और जानकारी की गहन समीक्षा करेंगे."

उन्होंने कहा, "सीरिया की सरकार की ओर से अच्छा सहयोग मिल रहा है."'

Image caption सीरिया में 2011 से राष्ट्रपति बशर अल अशद के ख़िलाफ़ विद्रोह जारी है.

हालाँकि विशेषज्ञों के दल की ज़मीनी कार्रवाई को गुप्त ही रखा जा रहा है.

गुरुवार को दमिश्क़ में संयुक्त राष्ट्र जाँच दल की तीन कारों के क़ाफ़िले को होटल से निकलते हुए देखा गया हालाँकि ये स्पष्ट नहीं हो पाया कि वे कहाँ गए.

अगले सप्ताह जाँचकर्ताओं का एक और दल सीरिया पहुँचेगा.

सीरिया के रसायनिक हथियारों को नष्ट करने के संयुक्त राष्ट्र के प्रस्ताव को अमल में लाने के लिए हथियार निरस्त्रीकरण विशेषज्ञों का एक 19 सदस्यीय दल मंगलवार को सीरिया पहुँचा था.

सीरिया के रसायनिक हथियारों को 2014 के मध्य तक नष्ट किया जाना है.

दल हथियारों को नष्ट करने की व्यवस्था में लगा है.

पिछले हफ़्ते ही संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में सीरिया के रसायनिक हथियारों को नष्ट करने का फ़ैसला लिया गया था.

पिछले महीने रूस और अमरीका के बीच जेनेवा में हुए एक समझौते के बाद संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में सीरिया के हथियारों को नष्ट करने का प्रस्ताव पास हुआ था.

रसायनिक हमला

21 अगस्त को राजधानी दमिश्क के बाहरी क्षेत्र में हुए एक रसायनिक हमले के बाद अमरीका ने सीरिया पर सैन्य कार्रवाई की चेतावनी दी थी.

अमरीका ने कहा था कि रसायनिक हमले में 1400 से ज़्यादा लोग मारे गए थे जबकि सीरिया और रूस ने इस हमले के लिए विद्रोहियों को ज़िम्मेदार बताया था.

पिछले हफ़्ते सीरिया ने संयुक्त राष्ट्र को अपने रसायनिक हथियारों के ज़ख़ीरे के बारे में जानकारी दी थी.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए यहां क्लिक करें. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर भी फ़ॉलो कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार