ब्राज़ीलः सबसे ज़हरीले सांप को बचाने वाला डॉक्टर

बुशमास्टर को बचाने वाला डॉ रोड्रिक्स सूज़ा

पांडा और बंदरों की दुर्लभ प्रजातियों को विलुप्त होने से बचाने के लिए अभियान चलाना आसान है लेकिन लुप्त होते ज़हरीले सांपों का संरक्षण वाकई बड़ी चुनौती है.

ब्राज़ील के अटलांटिक जंगलों के सबसे महत्वपूर्ण और पश्चिमी गोलार्द्ध के सबसे ज़हरीले इन परभक्षियों को लुप्त होने से बचाने के लिए एक स्थानीय डॉक्टर ने अपना पूरा जीवन समर्पित कर दिया है.

डॉक्टर रॉद्रिगो सूज़ा के इस अभियान के बारे में लोगों को संयोग से एक दिलचस्प घटना से पता चला. ब्राज़ील के तटीय कस्बे इताकेयर में एक कार्निवाल चल रहा था तभी करीब छह मीटर लंबा एक सांप सड़क पर निकल आया.

आयोजन स्थल पर भगदड़ मच गई, बंदूकों से लैस पुलिसकर्मी सांप को मारने जा ही रहे थे कि डॉ. रॉद्रिगो को बुलाया गया. अंततः सांप को बचा लिया गया.

डॉ. रॉद्रिगो

सबसे जहरीले सांपों की इस प्रजाति ''बुशमास्टर'' को बचाने में इस घटना को वो एक महत्वपूर्ण मोड़ मानते हैं. अब उन्हें ऐसे मौकों पर अवश्य बुलाया जाता है.

एक बार अटलांटिक लहरों से भटकर आए पेंग्विन के एक समूह को बचाने के लिए उन्हें बुलाया गया.

रॉद्रिगो बताते हैं कि जब 12 साल पहले वो उत्तर पूर्वी प्रांत बाहिया में आए तो यहां फुटपाथ पर पक्षियों, बंदरों और सांपों को बेचने का अवैध धंधा सरेआम चलता था. लेकिन प्रशासन ने इस पर लगाम लगाई और लोगों में भी इनके महत्व के प्रति जागरूकता का अहसास बढ़ा.

वो बताते हैं, 'मैं एक दिन गुजर रहा था तो देखा कि एक सांप सड़क पार कर रहा था और उसे जाने देने के लिए यातायात को थोड़ी देर के लिए रोक दिया गया.''

Image caption अटलांटिक का सबसे खतरनाक सांप बुशमास्टर लुप्त होने की कगार पर है.

अटलांटिक बुशमास्टर, यहां इसे इसी नाम से जाना जाता है, डॉ. रॉद्रिगो का जूनून हैं. उन्होंने बरसाती जंगल के किनारे बसी आबादी में ही अपना घर बनाया है.

उन्होंने अपने घर में एक निजी सांप अभ्यारण्य बनाया है जिसमें 35 जहरीले सांप हैं.

'बुशमास्टर'

यह सांप तीन मीटर तक लंबा होता है. इसके पृष्ठ भाग पर नारंगी और काले रंग की धारियां होती हैं और आंख के नीचे सेंसर होते हैं जो गर्म रक्त वाले स्तनपायी जीवों की ओर उसे आकर्षित करते हैं.

बिना उपचार के, कोई भी मनुष्य काटे जाने के एक घंटे के अंदर दम तोड़ सकता है.

जंगल के पास रहने वाली आबादी के लिए यह सांप मिथक समान है. उच्च तापमान के प्रति आकर्षण को लेकर इसे लोग ''अग्निशामक'' कहते हैं.

लोगों ने डॉ रॉद्रिगो को इसके इलाके में आग के पास बैठने के लिए मना किया है क्योंकि आग के स्रोत की ओर यह बहुत तेजी से आता है.

Image caption बुशमास्टर गर्मी से आकर्षित होता है, जो गरम रक्त के स्तनवापीय जीवों का शिकार करने में मदद करता है.

डॉ. रॉद्रिगो बताते हैं कि एक बार तो मोटरसाइकिल के हेड लैंप पर ही सांप के हमला कर दिया था जिसकी वजह से दुर्घटना हो गई थी.

ग्रिज्ली मैन से तुलना

ब्राजीली मीडिया में रॉद्रिगो की तुलना अमरीकी पर्यावरणविद् 'ग्रिज्ली मैन' से की जाती है, जो ग्रिज्ली भालुओं के बीच रहते थे और उन्हीं में से एक ने उन्हें मार दिया था.

एक जर्मन फिल्मकार वर्नर हेर्जाग ने उनके जीवनवृत्व पर डॉक्यूमेंटरी भी बनाई थी.

लेकिन डॉ. रॉद्रिगो का कहना है कि, ''मुझे अपने सांपों को लेकर कोई गलतफहमी नहीं है. उन्हें कुछ नहीं पता कि मैं कौन हूं और मैं जानता हूं कि मुझे काटने में उन्हें ज़रा भी हिचकिचाहट नहीं होगी.''

मुझे स्वीकार करने में कोई झिझक नहीं है कि जब मैंने उन्हें अपने घर में सांपों को बड़े आराम से उठाते देखा तो मैं पूरी तरह डर गया था.

हालांकि उन्हें उठाने से पहले उन्होंने शरीर की गर्मी को रोकने वाला एक वस्त्र पहन लिया था.

डॉ. रॉद्रिगो सूज़ा पहले और शायद पहले ऐसे व्यक्ति हैं जो अटलांटिक बुशमास्टर को घर में रखकर प्रजनन कराते हैं. वह सांपों का ज़हर निकालते हैं और उससे एंटीडॉट बनाते हैं.

कैंसर से उपचार के लिए बुशमास्टर का ज़हर शोध के लिए भी काम आता है.

विलुप्त होती प्रजाति

Image caption रेल रोड परियोजना से इस प्रजाति के अस्तित्व पर खतरा मंडरा रहा है.

हालांकि इंसानी हस्तक्षेप के कारण यह सरीसृप विलुप्त होने की कगार पर है.

अमेजन की तरह ही घने अटलांटिक का यह बरसाती जंगल उत्तर पूर्व से लेकर दक्षिण में अर्जेंटिना के पूरे तटीय इलाके तक फैला है. लेकिन इसका छह प्रतिशत हिस्सा ही बचा हुआ है जो बाहिया प्रांत में है और इस पर भी खतरा मंडरा रहा है.

ब्रिटिश-कज़ाक़ कंपनी एनआरसी इस जंगल के अछूते हिस्से के बीच से होकर एक रेलवे पटरी बिछाने की योजना बना रही है.

कंपनी की योजना जंगल के भीतर से लौह अयस्क को लियस बंदरगाह तक ले जाने की है. जबकि इस क्षेत्र को यूनेस्को द्वारा संरक्षित घोषित किया जा चुका है.

इस योजना से बेशक नौकरियों के अवसर पैदा होंगे. लेकिन इस अद्वितीय पारिस्थितिकी को संरक्षित करने के लिए संघर्ष कर रहे सूज़ा के प्रयासों के लिए यह एक झटका है.

उनके अनुसार, रेलवे का यह प्रोजेक्ट इस पारिस्थिकी के लिए विनाशकारी साबित होगा, जो कि बुशमास्टर सांपों की पसंदीदा रिहाइश है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार