110 करोड़ रुपये का कटोरा

  • 9 अक्तूबर 2013
हॉंग कॉंग

बेशकीमती से बेशकीमती कटोरे की कीमत आखिर कितनी हो सकती है. चौंकिएगा मत! हॉन्गकॉन्ग में एक कटोरे की कीमत 180 डॉलर लगाई गई है.

छोटा सा, खूबसूरत, चीनी मिट्टी का बना मिंग कटोरा. यह कटोरा जब सूथबी हाऊस में नीलामी के लिए लाया गया तो कला के एक पारखी ने इसे 180 लाख डॉलर (करीब 110 करोड़ रुपये) में खरीदा.

इस कटोरे में ऐसी क्या ख़ास बात है?

चलिए हम बताते हैं. चीनी मिट्टी से बना यह मिंग कटोरा इतना कीमती इसलिए है क्योंकि यह 15वीं सदी के चांगक्वा काल का है. 15वीं सदी का यह दौर अपनी कला और कारीगरी के लिए दुनिया भर में मशहूर था. कहा जाता है कि उस दौर के बादशाह क्वांग ने इसका इस्तेमाल किया था.

15वीं सदी का कटोरा

सूथबी के जरिए नीलाम किया गया यह अब तक का दूसरा सबसे महंगा मिंग कटोरा है.

सूथबी के निकोलिस चाऊ कहते हैं, "यह अब तक का दूसरा सबसे कीमती बरतन है. यह अपने दौर के उत्कृष्ट कला का नमूना है. हमारे यहां अमरीका, यूरोप और एशिया से खरीददार आते हैं. उन सबने इसे पसंद किया."

विदेशी खरीददारों की दिलचस्पी के बावजूद यह प्याला अब हॉंगकॉंग में ही रहेगा. क्योंकि चीनी सिरेमिक डीलर विलियम चैक ने इसे खरीद लिया है.

इसके पहले हॉंगकॉंग में मिंग काल के एक चीनी मिट्टी के फूलदान की नीलामी 2 करोड़ डॉलर से ज्यादा में हुई. वैश्विक आर्थिक अनिश्चितता के बावजूद यह फूलदान रिकार्ड तोड़ कीमत में बिका था.

हॉंगकॉंग के सूथबी को एशियाई कला बाजार की ताकत का मुख्य केंद्र के रूप में देखा जाता है.

(बीबीसी हिंदी का एंड्रॉयड मोबाइल ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें. आप ख़बरें पढ़ने और अपनी राय देने के लिए हमारे फ़ेसबुक पन्ने पर भी आ सकते हैं और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

संबंधित समाचार